तेजी से बढ़ रहा ठोरा नदी का जलस्तर:आधा दर्जन गांवों का इटाढ़ी प्रखंड मुख्यालय से टूट गया संपर्क

बक्सर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बनारपुर गांव के घरों में घुसा बाढ़ का पानी। - Dainik Bhaskar
बनारपुर गांव के घरों में घुसा बाढ़ का पानी।

जिले में गंगा नदी में बढ़ते जलस्तर के बीच ठोरा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा है। जिसके कारण इटाढ़ी प्रखंड मुख्यालय से आधा दर्जन से अधिक गांवों का संपर्क टूट गया है। बता दें कि जिले में गंगा नदी का जलस्तर में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। जिसके कारण से गंगा नदी की सहायक नदी ठोरा के जलस्तर में भी वृद्धि हो रही है।

जिसके कारण से ठोरा नदी के किनारे बसे गांवों के लोग काफी सहमे हुए हैं। ऐसे में लोगों की परेशानी साफ दिखाई दे रही है। इटाढ़ी प्रखंड के आधा दर्जन से अधिक गांव अतरौना, सिकटौना, शाहीपुर, भीतीहरा, मितनपुरा नोनिया डेरा का संपर्क पुरी तरह से टूट चुका है। जबकि कई ऐसे गांव हैं जो बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं। लोगों के घरों में पानी घुसने लगी है। बताते चलें कि हकीमपुर अतरौना पंचायत अंतर्गत ठोरा नदी में उफान के कारण ऐसी स्थिति बनी हुई है।

बर्बादी : सैकड़ों एकड़ धान के खेत पानी में डूबे
ठोरा नदी में उफान के कारण सैकड़ों एकड़ में लगे धान का फसल डूब गए हैं। हालांकि यह फसल जैसे ही खेत में लगाया गया कुछ दिनों के बाद ही आई बाढ़ के पानी ने सभी धान के फसल को डूबा दिया। जिससे किसान चिंतित हैं। किसानों का कहना था कि यदि जल्द से बाढ़ का पानी उतरेगा तो फसल बच सकती है। अन्यथा फसल सड़ जाएगी।

खबरें और भी हैं...