पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Buxar
  • In April Only 87.5% Of The Cases Received In The Last 8 Months, The Maximum 56 Deaths Also Occurred In The Last 18 Days.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महामारी:पिछले 8 माह में जितने केस मिले उसके 87.5% सिर्फ अप्रैल में, सबसे ज्यादा 56 मौतें भी बीते 18 दिनों में हुईं

बक्सर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में महामारी का सबसे भारी महीना साबित हुआ अप्रैल, केस और मौतों के रिकॉर्ड रोजाना टूटे
  • अब तो संभलिए... 1 अप्रैल से 4 मई तक 3232 केस आए हैं सामने
  • इस पर ब्रेक आप ही लगा सकते हैं 1 अप्रैल से जितने संक्रमित मिले, उतने पिछले 6 माह में नहीं थे

कोरोना काल का अब तक के सबसे खतरनाक महीना अप्रैल माह साबित हुआ। इस वर्ष के अप्रैल महीने ने कोरोना संक्रमितों और मौत के आंकड़ों में अब तक का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 1 अप्रैल से मई के चार दिनों में जितने केस मिले थे उतने केस पिछले साल के 6 महीनों में भी नहीं मिले। जो पिछले वर्ष के मुकाबले 87.52 फीसदी मामले केवल 33 दिनों में मिले हैं। पिछले साल दिसंबर तक कुल 4 लाख 45 हजार 463 सैंपल की जांच हुई थी। जिसमें 3532 पॉजिटिव मरीज मिले थे, लेकिन इस वर्ष केवल अप्रैल महीने में ही 2697 मरीज मिले हैं। जबकि इस दौरान मात्र 78191 सैंपल की जांच की गई। इस वर्ष 24 मार्च को जिले में कोरोना संक्रमण के दूसरे स्ट्रेन का पहला मामला आया था। उसके बाद संक्रमण का चेन बढ़ता गया और देखते ही देखते अप्रैल के अंत तक 2697 तक पहुंच गया। यदि एक्टिव मरीजों की बात करें तो जिले में 1 अप्रैल को एक्टिव मरीजों की संख्या 19 थी। परंतु 30 अप्रैल को 1592 हो चुकी थी। जबकि 4 मई तक कुल संक्रमित 3232 हो गए। अब आप सोचिए कि कोरोना का यह दूसरा लहर कितना खतरनाक साबित हुआ है। सबसे ज्यादा केस बक्सर व इटाढ़ी से मिले हैं तो सबसे कम चक्की प्रखंड से मिले।

पिछले वर्ष की तुलना अप्रैल में 466. 66 % रहा मौत का आंकड़ा

कोरोना से होने वाली मौतों की बात करें तो दिसंबर 2020 तक जिले के 29 मरीजों की मौत हुई थी। परंतु इस वर्ष अप्रैल के अंत तक ये आंकड़ा 42 पहुंच गया। वहीं मई महीने के 4 दिनों में आंकड़ा 50 पार कर 56 तक पहुंच गया। 15 अप्रैल को दूसरे स्ट्रेन के संक्रमण से पहली मौत हुई थी। यानी 15 दिनों में 42 मरीजों ने दम तोड़ा।

टाॅप पर पहुंचा अप्रैल 2021
अस्पतालों में बेड मिलना मुश्किल
ऑक्सीजन की बेहद कमी
वेंटिलेटर भी नहीं मिल रहे।
आपको संक्रमण हुआ तो परिवार खतरे में
बहुत जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकलें
डबल लेयर मास्क पहनें
सामाजिक दूरी बनाएं
घर आते हीं कपड़े बदलें
फिर सेनेटाइज करें
भाप लें
बार-बार हाथ धोएं, गर्म पानी अधिक से अधिक सेवन करें

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें