लेडीज फ़र्स्ट, जिउतिया व्रत:महिलाओं के लिए सुबह पुरुषों ने खाली छोड़ा बूथ; जिउतिया पर हावी रहा लोकतंत्र का महापर्व

बक्सर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बूथ पर लाइन में  खड़ी महिलाएं पहचान पत्र दिखाती। - Dainik Bhaskar
बूथ पर लाइन में खड़ी महिलाएं पहचान पत्र दिखाती।
  • कड़ी धूप में भूखे प्यासे आधे दिन तक खड़ी रही महिला मतदाता

राजपुर प्रखंड में हो रहे पंचायत चुनाव में जिउतिया पर्व पर लोकतंत्र का महापर्व हावी रहा। निर्जला उपवास होने के कारण महिलाओं को परेशानी का सामना न करना पड़े। इसलिए पुरुषों ने मतदान केंद्र खाली कर दिया था। खुद पुरुष दोपहर से शाम तक मतदान किये। महापर्व में शामिल होने को लेकर जिउतिया व्रती महिला मतदाताओं ने कड़ी धूप में भूखे प्यासे अपने नम्बर के इंतजार में घंटों डटी रही।

हालांकि, ग्रामीणों ने मानवता का परिचय देते हुए जिउतिया व्रती महिलाओं को पहले मतदान करने का अधिकार दे दिया था। जब तक महिला मतदाताओं की कतार खत्म नहीं हुआ। तब तक मतदान केंद्र पर एक भी पुरुष मतदाता नहीं गए। धूप से बचने को लेकर महिला मतदाताओं ने स्कूल के बरामदे का सहारा लेते हुए बरामदे में बैठकर आपने नंबर आने का इंतजार कर रही थी।

नागपुर पंचायत के महिला मतदाता पूनम देवी, सोनम कुमारी, सावित्री देवी ने बताया कि निर्जला जिउतिया व्रत रहने के बाद भी अपने गांव की सरकार का निर्माण के लिए अपना मताधिकार का प्रयोग कर रहे है। लोगों ने बताया कि प्रत्याशियों की हार-जीत भले ही हो।

अगर महिला मतदाता बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित नहीं करेगी तो आने वाले समय में महिलाओं का कोई सम्मान नहीं करेगा। अपने सम्मान को लेकर महिला अपना मताधिकार का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि निर्जल जिउतिया व्रत के कारण ग्रामीणों ने मानवता का परिचय देते हुए पहले महिला मतदाताओं को मताधिकार करने का अवसर प्रदान किया है। जिससे महिलाओं के अंदर पुरुषों के लिए और सम्मान बढ़ गया है।

खबरें और भी हैं...