पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Buxar
  • Infection Increased So Fast Due To Two Reasons: Investigation Increased Up To Four Times, Hence The Report Coming Soon, Negligence In Unlocking Also Increased

लगातार बढ़ता गया संक्रमण:दो कारणों से इतनी तेजी से बढ़ा संक्रमण : चार गुना तक बढ़ी जांच इसलिए जल्द आ रही रिपोर्ट, अनलॉक में लापरवाही से भी इजाफा

धनसोईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले लॉकडाउन में मिले थे 335 मरीज, लॉकडाउन बढ़ने के बाद संख्या पहुंची थी 806, तीसरे लॉकडाउन में 1284 लोग हुए थे संक्रमित
  • जुलाई माह में ही एक हजार पार कर गई थी संक्रमितों की संख्या, अभी हैं 1235 मरीज

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए पहली बार लाॅकडाउन लगाया गया था। फिर धीरे-धीरे लाॅकडाउन को बढ़ाया गया। उसके बाद फिर जून में जैसे ही ऑनलाॅक 1, 2 और फिर 3 शुरू हुआ वैसे ही संक्रमण के रफ्तार में तेजी आ गई। अब हालात यह है कि कोरोना संक्रमण का चेन टूटने का नाम ही नही ले रहा है। इसका पहला कारण है कि जिला प्रशासन के द्वारा जांच का दायरा बढ़ा दिया गया। जिले के प्रत्येक पंचायतों में कैंप लगाकर लोगों का सैंपल इकट्ठा किया जा रहा है। मार्च से लेकर 15 अप्रैल तक जिले में एक भी कोरोना संक्रमण के मामले नही थे। हालांकि जिले के सदर अस्पताल में संदिग्धों को कोरोना संक्रमण की जांच शुरू कर दी गयी थी। जैसे ही अनलाॅक 1 शुरू हुआ कोरोना संक्रमण ने दस्तक देना शुरू कर दिया। इसके बाद मरीजों की संख्या में तेजी आई।

शुरुआत में जब तक लाॅकडाउन रहा तब तक सब कुछ समान्य रहा। बता दें कि लाॅकडाउन के दौरान पुलिस भी काफी चुस्ती दिखा रही थी। अब जैसे ही सैम्पलिंग बढ़ा कर 200 से 300, 400 किया गया। कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते गए। पिछले दो अनलाॅक में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते गए। जिससे की जिले के लोग तेजी से संक्रमित होते जा रहे हैं और बीमारी की चपेट में आ रहे हैं।

चिंता इसलिए क्योंकि गांवों तक पहुंचा संक्रमण, अब नहीं रुका, तो हालात होंगे भयावह

सबसे पहले बक्सर, डुमरांव, भोजपुर इत्यादि शहरी क्षेत्रों में संक्रमण का खतरा था, लेकिन अनलाॅक के बाद ग्रामीण शहरी इलाकों में किसी काम से जाने लगे। गांवों की तरह यहां भी लोग बैगर मास्क व एहतियात बरते बैगर भीड़ में खड़े होने से लेकर दुकान में एक दुसरे के संपर्क में रहने लगे। यहीं वजह है कि पहले शहर फिर ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं। जो प्रशासन के लिए चिंता का कारण बना हुआ है। अभी जिले में संक्रमित लोगों की संख्या हुई 1235 पहुंच गई है।

इन दो कारणों से संक्रमितों की संख्या बढ़ी और तेजी से फैल रहा संक्रमण
• लाॅकडाउन के दौरान 20 से 30 सैंपल की जांच होती थी, परंतु अब 200, 300 से अधिक संदिग्ध लोगों रोज सैंपल लिए जा रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में भी सैंपल की संख्या बढ़ाई गई है। रोजाना ही इतने सैंपल जांच के लिए लैब भेजे जा रहे हंै। इसके कारण मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है।
• लोगों के मन से डर खत्म होता गया। यह सबसे बड़ा कारण रहा है। लाॅकडाउन के दौरान लोगों में कोरोना संक्रमण का डर ज्यादा था। लोग घरों में बंद थे। अब धीरे-धीरे लोगों में डर खत्म होने लगा। इसके कारण लोग पहले की तुलना में ज्यादा लापरवाह हो गए। न सोशल डिस्टेंसिंग, न मास्क तथा न ही स्वच्छता यहीं वजह है कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। अब चिंता इसी बात है कि अगर अब भी संक्रमण बढ़ने की रफ्तार इतनी ही तेज रही तो आने वाले दिनों में स्थिति और भी भयावह हो जाएगी। लोगों को संक्रमण से बचाव के लिए अभी से ही जागरूक हो जाना चाहिए।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें