पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वारदात:सिरफिरे पुत्र ने पैसे के लिए मां को अपने दो बेटों के सामने पीट-पीटकर मार डाला

राजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हत्यारोपी के सात वर्षीय व दस वर्षीय पुत्रों ने खोला हत्या का राज, ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा
  • वार्ड सदस्य थी मृतक महिला, आरोपी धराया

राजपुर थाना क्षेत्र के रसेन गांव में एक सिरफिरे बेटे ने अपनी मां की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि उसने पैसों के लिए इस वारदात को अंजाम दिया है। जैसे ही हत्यारा हत्या कर भागने की कोशिश कर रहा था तभी उसी के पुत्रों ने शोर मचाने शुरू कर दी और ग्रामीण एकत्रित हो गए। ग्रामीणों ने हत्यारे को पकड़ लिया। इसके बाद उसे बंधक बनाकर पुलिस को सूचना दिए।

मृतका का नाम बिथनी देवी बताया जा रहा है। जो गांव के पांच नंबर वार्ड की वार्ड सदस्य थी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के चंगुल से हत्यारोपी को निकाल थाने लेकर आई। जब पुलिस ने जब गांव में पूछताछ शुरू की। तो पता चला कि उसने अपनी मां की हत्या पीट-पीटकर की है। पुलिस ने हत्यारोपी को जेल में बंद कर दिया है। वहां देर रात तक पुलिस को कोई आवेदन नहीं मिला था। प्रभारी थानाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि हत्यारोपी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है।
कई एंगल से हो सकती हैं जांच
पुलिस को ग्रामीणों ने गला दबाकर मारने की भी बात कही। जानकारी के अनुसार इस हत्या का खुलासा हत्यारोपी रमेश पासवान के दोनों बच्चों ने रोते हुए गांव वालों के सामने किया। यह भी बताया जा रहा है कि उसकी पत्नी से अनबन है। दोनों बेटे उसके साथ थे। पिता की मौत हो चुकी है। भाई लोगों से कोई मदद नहीं मिलती थी। रमेश बेरोजगार था। पुलिस के अनुसार उसकी मानसिक स्थिति विगत कुछ दिनों से ठीक नहीं थी। वह अक्सर अपनी मां से रुपए मांगता रहता था और इस बात को लेकर मां से झगड़ा भी होता था। इन सभी बिंदुओं पर जांच होगी।

बच्चों ने रोते हुए खोला हत्या का राज
हत्यारोपी के दो नाबालिग बच्चों ने इस हत्या का राज खोला। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि पापा दादी को रात में बहुत पीट रहा था। जिसके बाद दादी की मौत हो गई।पुलिस ने ग्रामीणों व मासूम बच्चों के बयान को आधार बनाकर उसे हाजत में बंद कर दिया। पुलिस के अनुसार मृतका के एक भतीजे पुजारी पासवान ने एफआईआर दर्ज करने की बात कही है। उसी ने मृतका का दाह-संस्कार भी किया। हत्यारोपी के दोनों पुत्रों को उसी ने अपने साथ रखा है। बताया जाता है कि मंगलवार की शाम पैसे को लेकर मां को खूब पीटा व हाथ पैर बांधकर उसी हालत में तड़पने के लिए छोड़ दिया। जिसके बाद बुधवार को उसी हालत में गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया।
थाने में मां को ही पुकार कर रो रहा था रमेश
पुलिस ने जब हत्यारोपी रमेश पासवान को हाजत में बंद कर दिया तो रोने लगा। वह थाने की हाजत में उसी मां को पुकार कर रो रहा था। कभी कभी गाना भी गा रहा था। हत्यारोपी ने पुलिस को अपनी सफाई देते हुए कहा कि उसने मां को मारा नहीं है। उसकी मौत गिरने से हुई है। हालांकि यह बात मानने को कोई तैयार नहीं है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें