सख्ती:होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को स्पीड पोस्ट के माध्यम से पहुंचाई जाएगी दवाइयों की किट

बक्सर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मकर संक्रांति को लेकर गंगा स्नान पर रहेगी रोक, घरों में ही मनाएं त्योहार

कोरोना की दस्तक को लेकर सभी को जागरूक होने की जरूरत है। इसके लिए मास्क का अवश्य उपयोग किया जाए। ये बातें डीडीसी डॉ योगेश कुमार सागर ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में प्रेसवार्ता करते हुए कही। उन्होंने राज्य स्तर व जिला से जारी गाइडलाइंस की चर्चा करते हुए कहा कि जागरूकता से बचाव सम्भव है। इसके लिए मास्क पहनने के साथ ही सोशल डिस्टनसिंग का अनुपालन करने की जरूरत है। ऑक्सीजन को लेकर दोनों अनुमंडल व सदर अस्पताल में अच्छी व्यवस्था करते हुए सिलेंडर की भी तैयारी कर ली गई।

वही दवाओं को लेकर उन्होंने बताया कि इस बार स्पीड पोस्ट के माध्यम से घर तक दवाओं की किट पहुंचाई जाएगी। होम आइसोलेशन वालो के पते पर यह सीधे भेजी जाएगी। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि जीएनएम कॉलेज को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। वही इस बार सात दिन रोगियों को रखने या होम आइसोलेशन के बाद छोड़ दिया जाएगा। वैक्सीनेशन को लेकर उन्होंने कहा कि 15 से 17 वर्ष के बच्चों को वैक्सीन देने को लेकर शनिवार को मेगा ड्राइव के तहत वैक्सीनेट किया जाएगा। इसके साथ ही हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन कर्मी,सफाईकर्मी, एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़े सभी को 10 जनवरी से बुस्टर डोज दिया जाएगा।

इसके साथ ही 60 साल से ऊपर के वृद्ध को भी बुस्टर डोज दिए जाएंगे। वही 9 इनटू 9 वैक्सीनेशन सेंटर पर रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा। इसके अलावे बॉर्डर इलाके से जुड़े पॉइन्ट पर भी जांच की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों की मॉनिटरिंग के साथ ही मेडिकल टीम घर जाकर जांच करेगी। मकरसंक्रांति को लेकर उन्होंने स्पष्ट किया कि जारी गाइडलाइन के अनुसार नियमों का पालन किया जाना है।

खबरें और भी हैं...