पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बक्सर में वैक्सीन लेने से लोगों का इनकार:स्वास्थ्य विभाग की टीम ने काफी समझाया, लेकिन नहीं माने लोग, घर-घर जाकर जागरूक किया तो मात्र 6 ने लिया टीका

नावानगर/बक्सरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बक्सर जिले के नावानगर के हरोजा गांव में वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरुक करतीं स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
बक्सर जिले के नावानगर के हरोजा गांव में वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरुक करतीं स्वास्थ्यकर्मी।

बक्सर के नावानगर में लोगों ने कोरोना का टीका लेने से इनकार कर दिया है। रविवार को बक्सर जिले की बाबुगंज इंग्लिश पंचायत के हरोजा गांव में लोगों ने वैक्सीन लेने से साफ मना कर दिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम 45 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए पहुंची थी, लेकिन यहां ग्रामीण वैक्सीन लगवाने से कतराते रहे। टीम डोर टू डोर पहुंच लोगों को जागरुक करने में जुट गई। काफी प्रयास के बाद गांव के मात्र 6 लोगों ने वैक्सीन ली।

दिनभर मेहनत कर मायूस लौटी टीम
दिनभर मेहनत करने के बाद भी टीका लगाने वाली टीम को वापस लौटना पड़ा। बता दें कि वैक्सीनेशन के कार्य में तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को ग्रामीण इलाके में शिविर के माध्यम से 45 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगाना है। स्वास्थ्य विभाग के BCM अभिषेक कुमार के नेतृत्व में टीम हरोजा गांव पहुंची थी, जहां लोगों से टीका लगवाने के लिए कहा गया तो ग्रामीणों ने वैक्सीन लगवाने से साफ इंकार कर दिया। कहा-वैक्सीन लेने के बाद बुखार आ जाता है और बहुत दर्द होता है, इसलिए हमलोग सूई नहीं लेंगे।

औरतों ने भी नहीं मानी बात
गांव में महिलाओं ने भी वैक्सीन लगवाने से इनकार कर दिया। स्वास्थ्य कर्मियों ने लोगों को समझाते हुए कहा कि वैक्सीन लेने के बाद बुखार आएगा तो उसके लिए दवा भी साथ दी जाएगी। वैक्सीन लगने के बाद अगर कोई कोरोना संक्रमण होता है तो उससे शरीर में कोरोना को हराने की क्षमता बढ़ जाती है। साथ ही आप सुरक्षित हो जाओगे, पर स्वास्थ्य कर्मियों की बात कोई भी सुनने को तैयार नहीं थे।

खबरें और भी हैं...