पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सार्वजनिक समारोह:दशहरा में पूजा पंडाल के उद्घाटन पर नहीं आयोजित होंगे सार्वजनिक समारोह

बक्सर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दशहरा पर्व को शांतिपूर्ण व सादगीपूर्वक ढंग से मनाने के लिए जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक कलेक्ट्रेट के सभागार मे की गई। जिसकी अध्यक्षता जिला दंडाधिकारी अमन समीर ने की। बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 संक्रमण के प्रभाव के कारण गृह विभाग बिहार सरकार के द्वारा दशहरे को मनाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किया गया है। आदेश में कहा गया है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 एवं चुनाव के बीच दुर्गापूजा के त्योहार की तिथियां पड़ रही है। दुर्गापूजा में बड़ी संख्या में लोग पूजा पंडाल, मंडप, मंदिर, शिवालय आदि स्थानों पर एकत्रित होते हैं। लेकिन कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर निर्गत निदेशों का पालन इस अवसर पर सख्ती से कराया जाना आवश्यक है। कंटेन्मेंट ज़ोन में घर पर ही करे पूजा : कन्टेनमेंट जोन के बाहर दुर्गापूजा 2020 के आयोजन के संबंध में दिए गए दिशा निर्देश में बताया गया की पूजा संबंधी किसी कार्यक्रम से चुनाव आचार संहिता एवं भारत निर्वाचन आयोग के किसी निदेश का उल्लंघन न हो। दुर्गापूजा का आयोजन मंदिरों में या निजी रूप से घर पर ही करने को कहा गया है।

आयोजन के लिए शर्तें रहेंगी, नहीं बनेगा तोरणद्वार
मंदिर में पूजा पंडाल या मंडप का निर्माण किसी विशेष विषय पर नहीं किया जाएगा। इसके आस पास कोई तोरण द्वार अथवा स्वागत द्वार नहीं बनाया जाएगा। जिस जगह मूर्तियां रखी गई हैं, उस स्थान को छोड़कर शेष भाग खुला रहेगा। सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली का उपयोग नहीं किया जाएगा। इस अवसर पर किसी प्रकार के मेला का आयोजन नहीं किया जाएगा। पूजा स्थल के आस पास खाद्य पदार्थ का स्टॉल नहीं लगाया जायेगा। किसी प्रकार के विसर्जन जुलूस की अनुमति नहीं दी जायेगी। जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित तरीके से चिन्हित स्थानों पर ही मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा। विसर्जन विजयादशमी 25 अक्टूबर को ही पूर्ण कर लिया जायेगा। कोई सामुदायिक भोज या प्रसाद या भोग का वितरण नहीं किया जाएगा।

केन्द्र एवं राज्य सरकार से निर्गत मापदण्ड का पालन करना होगा अनिवार्य

आयोजकों व पूजा समितियों द्वारा किसी रूप में आमंत्रण पत्र जारी नहीं किया जाएगा। मंदिर में पूजा पंडाल या मंडप के उद्घाटन के लिए कोई सार्वजनिक समारोह आयोजित नहीं किया जाएगा। मंदिर में पूजा के आयोजकों द्वारा पर्याप्त सैनिटाइजर की व्यवस्था की जायेगी। कोविड-19 के संक्रमण रोकने के संबंध में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा निर्गत मापदण्ड का पालन करना अनिवार्य होगा। पूजा के आयोजकों व कार्यकर्ताओं एवं उससे संबंधित अन्य व्यक्तियों को स्थानीय प्रशासन द्वारा निर्धारित शर्तों का पालन करना होगा। किसी भी सार्वजनिक स्थल, होटल, क्लब आदि पर गरबा, डांडिया, रामलीला आदि कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा। रावण दहन का कार्यक्रम सार्वजनिक स्थान पर आयोजित नहीं किया जायेगा। ऐसा करने पर भीड़ जमा होने की आशंका है।

नौ हजार से ज्यादा लोगों पर की निरोधात्मक कार्रवाई : एसपी
बक्सर | एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि दशहरा पर्व के पूर्व सुरक्षा का इंतजाम पूर्ण कर लिया गया है। असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। 9000 से ज्यादा निरोधात्मक कार्रवाई की गई है। अनुमण्डल एवं थाना स्तर पर भी शांति समिति की बैठक आयोजित कर गृह विभाग के दिशा-निर्देश से सभी को अवगत करा दिया गया है। शांति समिति के सदस्यगणों ने इस अवसर पर कहा कि सबसे पहले आम जनता की सुरक्षा आवश्यक है, अतएव हम सभी जिला प्रशासन के द्वारा दिए गए निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन करेंगे। बैठक में जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी किशोरी चौधरी, एसडीएम के के उपाध्याय, डुमरांव एसडीएम हरेन्द्र राम, एसडीपीओ के के सिंह, बक्सर एसडीपीओ गोरखराम, डीपीआरओ कन्हैया कुमार आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...