• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Buxar
  • The Reality Of The State Government's Dream Project, Har Ghar Nal Jal Yojana, If The Tower Is Standing, The Tank Is Not There, If The Tank Is Also Installed, Then The Boring Fails.

सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट की सच्चाई:राज्य सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट हर घर नल-जल योजना की सच्चाई, कहीं मीनार खड़ी तो टंकी नहीं, कहीं टंकी भी लगी है तो बोरिंग फेल

बक्सर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वार्ड 16 का पानी टॉवर - Dainik Bhaskar
वार्ड 16 का पानी टॉवर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साल 2015 अपने ड्रीम प्रोजेक्ट की एक पोटली बनाई थी। जिसका नाम दिया था सात निश्चय योजना। उसी ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक था हर घर नल-जल योजना। जिसके माध्यम से हर घर को नल के जरिए जल पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था।

मगर योजना का हाल यह है कि कहीं मीनार खड़ी है तो टंकी नहीं, कहीं टंकी भी लगी है तो बोरिंग फेल, कहीं मोटर जला हुआ है, तो कहीं पूरे वार्ड में अभी तक कनेक्शन नहीं पहुंचा पाया है। ये सारी दास्तान ब्रह्मपुर प्रखण्ड का ब्रह्मपुर पंचायत के वार्ड 16 से सामने आ आई है।

जहां टंकी तो लगा है लेकिन जब से लगा है तब से उस वार्ड के लोगो को कभी इस योजना का लाभ तक नही मिला है। इस योजना के तहत वार्ड के कुछ ही घरो में पानी का कनेक्शन हुआ है। जबकि इस वार्ड में करीब हजारों की आबादी है। ग्रामीण सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्राक्कलन के मुताबिक कोई कार्य नही हुआ है।

तीन फीट के बजाए डेढ़ से दो फीट ही गड्ढा किया गया है। जबकि इस योजना में आईएसआई मार्का का पाइप लगाना था। लेकिन उस कम्पनी के पाइप का बिछाव नही हुआ है। घटिहा सामग्री का प्रयोग कर इस योजना को अमलीजामा पहनाया गया है। जो फिलहाल बन्द है।

कनेक्शन के लिए तोड़ी सड़क, मरम्मत नहीं
हर घर नल जल योजना के तहत सभी घरो में शुद्ध जल पहुंचाने के लिए वार्ड की सड़क को तोड़कर पाइप का बिछाव किया गया था। कार्य पूरा हो जाने के बाद उसे मरम्मत करने का आदेश पंचायती राज विभाग द्वारा जारी किया गया था। लेकिन इस वार्ड के क्रियान्वयन समिति एवं प्रशासन की लापरवाही के कारण टूटी हुई सड़कों का अब तक मरम्मत नही हुआ है । जिससे बरसात का पानी टूटी सड़क में जाम होने से गिरने का खतरा बना हुआ है।

चापाकल से निकलता है विषैला पानी
वार्ड 16 की जनता के बताया कि वर्षों से हमलोगों के घरो का पानी आर्सेनिक युक्त आ रहा है । प्रत्येक चापाकल को जांच कर चिन्हित भी कर दिया गया है । हर घर नल जल योजना से पता चला कि शुद्ध पानी मिलेगा ,लोगो मे खुशियां देखने को मिला लेकिन यह खुशी “चार दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात” की तरह निकली जब से लगा तब से शुद्ध जल नही मिला है। मजबूरन हमलोग विषैला जल(आर्सेनिक युक्त) पीने को मजबूर है।

कहते है बीडीओ
ब्रह्मपुर प्रखण्ड के बीडीओ आशीष कुमार मिश्र ने बताया कि योजना का जांच की जाएगी। जल्द ही लोगो के घरो तक पानी पहुचाने का कार्य होगा।

खबरें और भी हैं...