पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हारेगा कोरोना:संक्रमण को रोकने के लिए सेंट्रल जेल में भी वैक्सीनेशन शुरू

बक्सर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 45 वर्ष व उससे अधिक उम्र के कैदियों को दिया जा रहा टीका, संक्रमण को देखते हुए जेल परिसर में भी गाइडलाइंस लागू

कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार पूरे जिले में हो रहा है। ऐसे में बक्सर सेंट्रल जेल भी संक्रमण से अछूता नहीं रहा है। संक्रमण के प्रसार को कम करने के लिए जिलाधिकारी अमन समीर के निर्देश पर सेंट्रल जेल में कोविड वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। जेल के अधिकारियों व कर्मियों के साथ साथ कैदियों को भी टीकाकृत किया जाने लगा।
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी (डीआईओ) डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया जिले के केंद्रीय कारागार के 45 वर्ष या उससे अधिक आयुवर्ग के सभी बंदियों को पहले चरण में टीका लगाने का कार्य शुरू है। जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों एवं जेलों में बंद कैदियों तथा जेल कर्मचारियों की स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए वैक्सीनेशन किया जाना जरूरी था। वहीं, संक्रमण प्रसार को देखते हुए जेल में संचालित की जाने वाली सभी गतिविधियों में कोविड-19 के सामान्य नियमों का पालन कराया जा रहा है।
अब तक 283 कैदियों को किया गया टीकाकरण
सदर प्रखंड के स्वास्थ्य उत्प्रेरक (बीसीएम) प्रिंस कुमार ने बताया कि सेंट्रल जेल में अब तक 283 कैदियों को टीकाकृत किया जा चुका है। जहां टीकाकरण के दौरान सभी मानकों का ख्याल रखा जा रहा है। टीका लेने के बाद सभी कैदियों की निगरानी की जा रही है। हालांकि, अब तक टीकाकरण के बाद किसी भी कैदी को कोई परेशानी नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि सेंट्रल जेल में टीकाकरण अभियान समाप्त होने के बाद ओपन जेल और महिला कारा में भी टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा।

कैदियों को बताए गए हैं सुरक्षा के टिप्स

बीसीएम प्रिंस कुमार ने बताया टीकाकरण के बाद कैदियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के टिप्स भी दिए जा रहे हैं। जिसका पालन कर वह स्वयं को संक्रमित होने से बचा सकें। उनको समझाया जा रहा है कि वर्तमान कोरोना काल में कैदी अपने स्वजन भाई-बहन से मुलाकात न के बराबर करें। यदि अतिआवश्यक होने पर करना पड़े तो, कोविड नियमों का कठोरता से पालन करते हुए करें। वहीं, जेल में कार्यरत कर्मचारियों से भी अनुरोध किया जा रहा है कि वे बंदियों से शारीरिक दूरी बनाये रखें, ताकि उनके संक्रमित होने की संभावना में बंदियों को कोरोना संक्रमण न होने पाये। सेंट्रल जेल में चलाये जा रहे टीकाकरण अभियान का जायजा प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। टीकाकरण के कारण जेल की सुरक्षा में कोई चूक न हो इसके लिए जिलाधिकारी अमन समीर के निर्देश पर अधिकारी समय समय पर जेल का मुआयना कर रहे हैं। जिलाधिकारी ने जेल अधीक्षक को बंदियों को शारीरिक दूरी बनाये रखने का निर्देश दिया है। साथ ही, यह भी कहा है कि यदि किसी कैदी में कोरोना के कुछ भी लक्षण मिलते हैं तो उनका कोविड टेस्ट कराते हुए इस बात की पुष्टि करें कि उनमें यह लक्षण कोरोना के है या नहीं। ताकि, सभी को संक्रमण से बचाया जा सके।

खबरें और भी हैं...