पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नवरात्रि:13 से वासंतिक नवरात्र शुरू, 21 को रामनवमी

बक्सर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हिन्दू पंचांग के अनुसार 13 अप्रैल से नवरात्रि की शुरूआत होगी। खास बात यह है कि इस बार की नवरात्रि इस बार पूरे 9 दिनों तक रहेगी। 12 अप्रैल को सुबह 8:01 बजे एकम तिथि लगेगी, जो कि दूसरे दिन सुबह 7:17 तक रहेगी। उदया तिथि में एकम तिथि होने से नवरात्रि की शुरुआत 13 अप्रैल से हीं होगी। जबकि नवरात्रि का पारण 12 अप्रैल को होगा। इसी के साथ 13 अप्रैल को गुड़ी पड़वा पर हिंदू नव वर्ष यानी संवत्सर 2078 की शुरूआत होगी।

हिंदू नव संवत्सर 2078 विक्रम संवत का नाम आनंद है। इस वर्ष नवसंवत्सर के राजा और मंत्री दोनों ही मंगल रहेंगे। गुड़ी पड़वा पर सूर्य देवता को अर्ध देकर नया साल का आगमन की शुरूआत होगी। इस बार चैत्र नवरात्रि मंगलवार को शुरू होगी। जिसकी वजह से मां घोड़े पर सवार होकर आएगी। इससे पहले शारदीय नवरात्रि पर भी मां घोड़े पर सवार होकर आई थीं। देवी माँ जब भी घोड़े पर सवार होकर आती हैं युद्ध की आशंका बढ़ जाती है।

नवरात्रि में मां शैलपुत्री, मां ब्रम्हाचारीणी, मां चन्द्रघंटा, मां कुष्मांडा, मां स्कंदमाता,मां कात्यायनी, मां कालरात्री, मां महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा अर्चना की जाएगी। प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना के साथ ही नवरात्रि पर्व की शुरुआत होगी। प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना के साथ हीं नवरात्रि की शुरूआत हो जाएगी। ज्योतिषाचार्य आचार्य प्रभंजन भारद्वाज के अनुसार मान्यता है कि नवरात्रि पर देवी दुर्गा पृथ्वी पर आती है। यहां वह 9 दिनों तक वास करते हुए भक्तों की साधना से प्रसन्न होकर आशीर्वाद देती है।

नवरात्रि पर देवी दुर्गा की साधना और पूजा पाठ करने से आम दिनों के मुकाबले पूजा का कई गुना ज्यादा फल की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि भगवान राम ने भी लंका पर चढ़ाई करने से पहले रावण से युद्ध में विजय प्राप्ति के लिए देवी की साधना की थी।

कोराेना : नहीं निकल सकेगी शोभायात्रा
दुसरी ओर जिले में कोविड को लेकर जिले में रामनवमी की शोभा यात्रा पर रोक लगा दी गयी है। जिसके कारण किसी भी प्रकार की जुलूस निकालने पर रोक लगाई गयी है।

किस तिथि पर कौन सी माता की करें पूजा

  • 13 अप्रैल : प्रतिपदा घट स्थापना और मां शैलपुत्री की पूजा (गुडी पड़वा )
  • 14 अप्रैल : द्वितीय मां ब्रह्मचारिणी की पूजा
  • 15 अप्रैल : तृतीय माँ चंद्रघंटा की पूजा
  • 16 अप्रैल : चतुर्थी मां कुष्मांडा की पूजा
  • 17 अप्रैल : पंचमी मां स्कंदमाता की पूजा
  • 18 अप्रैल : षष्ठी मां कात्यायनी की पूजा
  • 19 अप्रैल : सप्तमी मां कालरात्रि पूजा
  • 20 अप्रैल : अष्टमी महागौरी की पूजा
  • 21 अप्रैल : रामनवमी मां सिद्धिदात्री की पूजा
  • 22 अप्रैल : दसवीं नवरात्रिपारण
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें