पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्र के पहले दिन गंगा में डुबकी:जिले में 265 जगहों पर स्थापित की गई मां की प्रतिमा 150 पूजा-पंडाल संचालकों को नोटिस, देना होगा जवाब

छपरा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शनिवार को कलश स्थापना के साथ नवरात्र शरू हो गया। इस बार कोरोना की वजह से जिले में पूजा-पंडाल नहीं बनाए गये है। हालांकि मंदिरों व निजी स्तरों पर घरों में करीब 265 प्रतिमा स्थापित की गई है। इसके लिए अनुमंडलाधियों को लाइसेंस के लिए आवेदन दिये गये है। वहां से प्रतिमा विसर्जन की अनुमति देने की प्रक्रिया चल रही है। अभी कुछ आवेदन आ ही रहे है। यहां बता दें कि कोरोना काल के पहले करीब 1200 प्रतिमाएं और पंडाल स्थापित किये जाते थे।

कोराेना काल में पूजा पंडाल नहीं बनना है
जिले में एकमा,अमनौर,मढ़ौरा समेत अन्य प्रखंडों में करीब 150 पूजा-पंडाल संचालकों को पुलिस ने नोटिस भेजा है। कारण कि वे सभी गाइडलाइन लागू होने के बावजूद भी पूजा-पंडाल बना रहे है। ऐसे में उनको नोटिस भेजते हुए पुलिस ने हाजिर होकर जवाब देने को कहा है। यहां बता दें कि कोरोना काल में कोई पूजा-पंडाल नहीं बनाने है।

दुर्गापूजा: प्रतिमा स्थापना के दिए गए हैं आवेदन

नवरात्र के पहले दिन आमी मंदिर व मढ़ौरा गढ़देवी मंदिर का मुख्य द्वार खुला लेकिन कम पहुंचे श्रद्धालु

शारदीय नवरात्र के पहले दिन आमी मंदिर व मढ़ौरा के प्रसिद्ध शक्ति स्थल गढ़देवी मंदिर का मुख्य द्वार आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। मंदिर का गेट खुलने से भक्तों को प्रसन्नता मिली लेकिन जानकारी के अभाव के कारण काफी कम संख्या में श्रद्धालु मंदिर पहुंचे। बता दे कि कोविड-19 और लॉकडाउन के कारण मंदिर का गेट आम श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया था। इधर दुर्गा पूजा शुरु होने और मंदिर का मुख्य द्वार बंद होने को लेकर श्रद्धालुओं में गंभीर मायूसी थी। मंदिर पहुंचे कुछ श्रद्धालुओं ने बताया कि उन्हें महीनों हो गए थे मंदिर आए हुए । मंदिर के मुख गेट के खुलने पर उन्हें महीनों बाद मंदिर आने का फिर से मौका मिल गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें