पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Chhapra
  • 1.56 Lakh Cusecs Of Water Discharge From Gandak Barrage, Floods In 24 Villages Of Gadkha And Amnaur, Two Feet Of Flowing Water On NH

भेल्दी:गंडक बराज से 1.56 लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज, गड़खा और अमनौर के 24 गांवों में बाढ़, एनएच पर दो फीट बह रहा पानी

छपराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • छपरा-रेवा-मुजफ्फरपुर एनएच पर अवागमन बंद, चांदचक में एक किमी सड़क पर 4 फीट पानी बह रहा है, दिनोंदिन बढ़ रही परेशानी

गंडक नदी के बराज से 1.56 लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया है। जिले के गड़खा समेत अमनौर प्रखंडों के दो दर्जन गांवों में पानी घुस गया है। जिस कारण तबाही बढ़ गई है। छपरा-मुजफ्फरपुर को जोड़ने वाली एनएच 722 पर चांदचक के बाद अब खरीदहा में भी 2 फीट पानी बहने लगी है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है। पहले से ही चांदचक में लगभग एक किमी तक 4 फीट सड़क के ऊपर पानी बह रहा है।

मही नदी की पानी में लगातार बढ़ोतरी के कारण बाढ़ का कहर अमनौर प्रखण्ड में पिछले कई दिनों से लगातार जारी है। बुधवार रात्रि दो दर्जन नए गांव में पानी बढ़ने से लोगों के साथ-साथ मवेशियों को भी परेशानी बढ़ गई। तरवार, हकमा, कोरेया, शिकारपुर,गोसी अमनौर, लहेर छपरा, मलाही, रसूलपुर, चांदपुरा, अरना, लोकनाथपुर, सिरिसिया, सराय बक्स, बांसडीह, चैनपुर, महरुआ, रज्जुपुर, बसौता, गंगोई, खिडकिया आदि गांवों में लगातार पानी बढ़ने से लोगों का मुश्किल बढ़ गया है। भेल्दी थाने के पास चांदचक में पानी की बहाव काफी तेज हो गई है। उधर गड़खा पुलिस ने अख्तियारपुर चौक के पास छपरा मुजफ्फरपुर एनएच 722 पर वाहनों की चार पहिया वाहनों की आवाजाही रोकने के लिए सड़क को पुलिस ने सिल कर दिया हैं।
स्कूल में रैन बसेरा और सड़क किनारे टेंट बनाकर काट रहे हैं जिंदगी
तरैया| प्रखण्ड के विभिन्न गांवों में बाढ़ का प्रलयंकारी रूप थमने का नाम नहीं ले रहा है। 11 दिनों से प्रखण्ड के कई गांव बाढ़ की पानी से घिरे हुए है।कही लोग सरकारी विद्यालय भवनों के ऊपर शरण लिए हुए है। तो कही टेंट में लोग गुजर बसर कर रहे है। भटगाई प्राथमिक विद्यालय भवन के ऊपर कुछ दलित परिवार के लोग अपना रैन बसेरा जान जोखिम में डालकर बनाये हुए है। विद्यालय के नीचे लगभग तीन से चार फीट पानी बह रहा है।

वहीं खराटी दलित टोला में अधिकांश लोगों का घर पानी से घिरा है। घर के बाहर छह से सात फीट पानी है। फिर भी अपने घरों के छतों या घरों के ऊंची लिंटर पर निजी प्लास्टिक का टेंट बनाकर जीवन यापन कर रहे है। वैसे गांव जो चारों ओर से बाढ़ के पानी से घिरे है। वहां कोई सरकारी सुविधा नहीं पहुंच रहा है। सबसे बुरा हाल चैनपुर पंचायत के अंधरबाड़ी, सिरमी, शीतलपटी, सानी खराटी,सिरमी टोला गांव की है।

सभी सरकारी कार्यालय में घुसा पानी, सड़क पर संचालित है थाना और प्रखंड कार्यालय
मढ़ौरा| नगर में पानी का बढ़ना लगातार जारी है । पिछले पांच दिन से पानी में तेजी ने क्षेत्र को पुरी तरह से बाढ़ के पानी में डूबा दिया। सैकड़ों घर में हजारों परिवार तक घर छोड़कर पलायन कर चूके है। ऊंचे जगह पर ठिकाना खोजने का जद्दोजहद लगातार जारी है। हाई स्कूल असोइयां रोड का रास्ता पूरी तरह से बंद हो चूका है। प्रखंड कार्यालय, अंचल कार्यालय, नपं कार्यालय, रेफरल अस्पताल, पावर सब स्टेशन, मढ़ौरा थाना, एसएफसी गोदाम, डीएसपी आवास, प्रधान डाकघर, ट्रेजरी ऑफीस, रजीस्ट्री, सीडीपीओ कार्यालय सहित सभी सरकारी कार्यालय बाढ़ के पानी में डूब चूके है ।

पानापुर में सरकारी सहायता ऊंट के मुंह में जीरा साबित हो रहा, नहीं मिल रही है मदद
बाढ़ में सरकारी सहायता ऊंट के मुंह में जीरा साबित हो रहा है। जहां हजारों लोग बाढ़ से प्रभावित हैं, वहां सरकारी सहायता सैकड़ों में मिल रही है। अब जनप्रतिनिधि को समझ में नहीं आ रहा है कि किसको डांटे, किसको बांटे। चूंकि अधिकारियों को जनता के दरबार में नहीं जाना है। इसलिए किसको मिला, किसको नहीं मिला, कोई खास फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन जनप्रतिनिधि को पांच साल में ही सही, एक बार जनता के दरवाजे पर जाना ही पड़ता है। इसलिए वे चाह रहे हैं कि कम से कम हर परिवार तक आपदा में मदद पहुंच जाए।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें