फर्जीवाड़ा से बचाव:1.82 लाख पेंशनर बिना लाइफ सर्टीफिकेट दिए उठा रहे हैं पेंशन, 31 जनवरी के बाद होगी बंद

छपरा,जलालपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना की वजह से पेंशनधारियों के लिए वेरिफाई की तिथि 31 जनवरी तक बढ़ाई गयी

जिले में कुल करीब 3.85 लाख पेंशनधारी है। इसमें 1 लाख 82 हजार लोग इसका प्रमाण नहीं दे पाये है कि वह जीवित है। ऐसे में उन पेंशनधारियों की पेंशन रोकी जा सकती है। फिलवक्त पेंशन का भुगतान हो रहा है। यहां बता दें कि हाल में आधार से लिंक करने के दौरान भी 12 हजार ऐसे पेंशनधारी मिले थे जिनका आधार से लिंक नहीं है। उनको प्रथमदृष्टया विभाग फर्जी मान रही है। ऐसे में उनका हमेशा के लिए पेंशन रोका जा सकता है। सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा प्रखंडवार लिस्ट तैयार किया गया है कि अब तक कितने पेंशनधारी लाइफ सर्टिफिकेट नहीं दे सके है। लिहाजा उनका पेंशन बंद किया जा सकता है। हालांकि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए प्रमाणीकरण के लिए 31 जनवरी तक का अंतिम समय दिया गया है।
12 हजार बिना आधार से लिंक पेंशनधारी
जिले में 12 हजार लोग सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत वृद्धा, विधवा पेंशन का लाभ ले रहे है। लेकिन उनका आधार से लिंक नहीं है। ऐसे में उनका पेंशन रोका जा सकता है। आधार से लिंक करने के दौरान यह बात सामने आई है। सूत्रों की मानें तो अब तक 50 करोड़ से अधिक पेंशन मद की राशि फर्जी लोगों द्वारा उठाव किया चुका है। पकड़े जाने पर उनसे रिकवरी की जायेगी।

खुलासा : जलालपुर में लाइफ सर्टीफिकेट नहीं देने वाले 8000 पेंशनरों के पेंशन पर लगेगी रोक, आधार से लिंक करना होगा जरूरी

अपना जीवन प्रमाणीकरण 31 जनवरी तक करा सकते हैं
सामाजिक सुरक्षा निदेशालय बिहार सरकार के द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के पेंशनधारियों के जीवन प्रमाणीकरण के लिए प्रखंड स्तर पर प्रमाणीकरण की तिथि का विस्तार 31 जनवरी 2022 तक कर दिया गया है। पेंशनधारियों को भीड़ से बचाव एवं कोरोना संक्रमण फैलाव रोकने के उद्देश्य से किया गया है। लाभुकों से अनुरोध किया गया है कि वे प्रखंड कार्यालय पर आने के बजाय अपने घर के नजदीक के काॅमन सर्विस सेंटर पर प्रमाणीकरण करा लें, इससे भी वे प्रखंड कार्यालय के भीड़-भाड़ से बच सकते है।

किस पंचायत में कितने पेंशनधारी
जानकारी के अनुसार जलालपुर के अनवल में 557, अशोकनगर में447, भटकेसरी में 391, विशुनपुरा में 606, देवरिया में 444, किशुनपुर में 606,कुमना में371, माधोपुर में 277,नवादा में 401, रामपुर-नूरनगर में 570, रेवाड़ी में 857,शंकरडीह में 793, सम्हौता में 877,संवरी में 430 पेंशनधारी लाभुक है। जिनका पेंशन जीवन प्रमाण पत्र के अभाव में बंद हैं।

वृद्धावस्था और विधवा पेंशन हो सकती है बाधित, बीडीओ बोले- जीवन प्रमाण प्रत्र दें
जलालपुर प्रखंड के 8000 से अधिक वृद्धावस्था तथा विधवा पेंशन लाभुकों का पेंशन लाइफ सर्टीफिकेट के अपडेट के अभाव में बंद हैं। जिसके कारण पेंशनर परेशान हैं। मालूम हो कि वर्ष के अंत या शुरुआत दौर एक बार पेंशनरों को जीवन प्रमाण पत्र देना होता है। जो अब तक नहीं हुआ है। बीडीओ अंजू कुमारी ने सभी पंचायत सेवकों को सख्त निर्देश दिया है कि पंचायतों में ही सीएचसी के माध्यम से सभी लाभुकों का जीवन प्रमाण पत्र अपडेट किया जाए। इसकी सतत निगरानी भी की जाए। रिपोर्ट प्रखंड कार्यालय को उपलब्ध कराया जाए।

खबरें और भी हैं...