पंचायत चुनाव:मांझी की 23 पंचायतों के 330 बूथों पर 49.89% वोटिंग, 22.93% रही आधी आबादी की भागीदारी

छपरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मध्य विद्यालय दाउदपुर-दुमदुमा-1 पर मतदान करने के लिए लाइन में लगीं महिलाएं। - Dainik Bhaskar
मध्य विद्यालय दाउदपुर-दुमदुमा-1 पर मतदान करने के लिए लाइन में लगीं महिलाएं।
  • बूथों पर लगी वोटरों की कतार, तेज धूप और निर्जला उपवास में भी महिलाओं ने नहीं हारी हिम्मत

पंचायत आम निर्वाचन के दूसरे चरण के अंतर्गत मांझी प्रखंड के 23 पंचायतों के 330 बूथों पर सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक वोटिंग हुआ है। इस दौरान करीब 49.89 फीसद वोटिंग हुआ है। सुबह में वोटिंग की शुरूआत में महिला मतदाताओं की वोटिंग प्रतिशत अधिक रहा। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत बढ़ा। लेकिन शाम में महिलाओं की वोटिंग प्रतिशत घटने लगा। दिन के तीन बजे के बाद पुरूष मतदाताओं की संख्या में बढ़ोत्तरी होने लगी। शाम पांच बजे तक पुरूष 26.96 व महिला 22.93 फीसद वोटिंग किया है। यानि आधी आबादी की भागीदारी औसतन वोटिंग में आधी रही। वहीं सुबह में वोटिंग की शुरूआत में हीं कई बूथों पर ईवीएम में खराबी की सूचना मिलने लगी।

सूचना मिलने के बाद अधिकारी बूथों पर जाकर ईवीएम में खराबी को दूर करते हुए वोटिंग की शुरूआत कराया। हालांकि इस दौरान ज्यादा समय तक वोटिंग बाधित होने की सूचना नहीं मिली है। परंतु प्रत्याशियों द्वारा वोटिंग प्रभावित होने के उपरान्त मतदाताओं की अतिरिक्त समय भी नहीं देने का मामला भी उठाया है। जिसे अधिकारी सिरे से खारिज कर दिया है। जानकारी के अनुसार सुबह में वोटिंग मांझी प्रखंड के विभिन्न बूथों पर ईवीएम में खराबी के कारण करीब 55 बीयू यानी बैलेट यूनिट और सीयू यानी कंट्रोल यूनिट को बदले जाने की सूचना मिल रही है। कई बूथों पर ईवीएम में मामूली खराबी आने के कारण उसे मास्ट्रर ट्रेनर व इंजिनीयरों द्वारा शीघ्र हीं ठीक कर दिया गया है।

ड्यूटी से गायब 14 शिक्षकों से स्पष्टीकरण
मतदान को लेकर एक बूथ पर करीब छह मतदान कर्मियों को तैनात किया गया था। जिनमें करीब 14 शिक्षक चुनाव ड्यूटी से अनुपस्थित पाये गये है। जिसकी सूचना निर्वाची पदाधिकारी ने वरीय पदाधिकारी को सूचना दी। जिसे गंभीरता से लेते हुए ड्यूटी से अनुपस्थित मतदान कर्मियों से शोकॉज किया गया है। शोकॉज का संतोषजनक जवाब नहीं देने की स्थिति में एफआईआर दर्ज कराते हुए कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के अनुसार अनुपस्थित पाए गए शिक्षकों में प्रवीण कुमार राजेन्द्र प्रसाद सिंह बृज कांत शशि नकुल उपाध्याय रंजीत राम सुगेश्वर राम विजय कुमार दास सिकन्दर राम बलेश्वर मांझी सुधांशू भूषण शर्मा प्रिय रंजन शिवपूजन मांझी राजू कुमार साह तथा अवनिन्द कुमार शामिल हैं।

डीएम व एसपी ने लिया जायजा
पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के मतदान को शांतिपूर्ण, भयमुक्त एवं निष्पक्ष तरीके से संपन्न कराने को लेकर जिला से लेकर प्रखंड स्तर अधिकारी दिन भी जुटे रहे। शांतिपूर्ण तरीके से वोटिंग संपन्न कराने को लेकर डीएम नीलेश रामचन्द्र देवरे व पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने विभिन्न बूथों हो रहे वोटिंग का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने शांतिपूर्ण वोटिंक कराने को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। डीएम व एसपी बोगस वोटिंग का प्रयास करने वाले पर कठोर कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

वोटिंग में महिलाएं रहीं आगे तो शाम में 4.03% पुरुषों ने अधिक की वोटिंग
पंचायत आम निर्वाचन के दूसरे चरण में मांझी प्रखंड में हुए मतदान में दोपहर के बाद महिला मतदाताओं में जीवित पुत्रिका यानी जुयूतिया का असर भी देखने को मिला है। सुबह सात बजे से दोपहर तक महिला मतदाताओं का वोटिंग प्रतिशत अधिक रहा। लेकिन शाम तीन बजे के बाद पुरूष मतदाताओं की वोटिंग प्रतिशत बढ़ने लगा। शाम पांच बजे तक पुरूष मतदाताओं ने करीब 26.96 फीसद और महिला मतदाताओं ने करीब 22.93 फीसद मतदान किया। ।

मतगणना की तैयारी में जुटे कर्मी
मांझी प्रखंड के 23 पंचायतों में मतदान समाप्त होने के बाद अब मतगणना करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। जानकारी के अनुसार एक व दो अक्टूबर को छपरा स्थित जयप्रकाश इंजिनीयरिंग कॉलेज में मतगणना की जाएंगी। जिसको लेकर पूर्व से हीं तैयारी कर ली गई है। जानकारों की माने तो मतगणना के पहले दिन ही मुखिया, वार्ड सदस्य, बीडीसी व जिला पार्षद का रिजल्द आने की संभावाना है। जबकि सरपंच और पंच पद का रिजल्ट दो अक्टूबर यानी गांधी जयंती के दिन हीं आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। इसको लेकर कर्मचारियों को हिदायत दी गयी है। उन्हें प्रशिक्षण देकर यह बता दिया गया है कि मतों की गिनती के दौरान किस तरह सावधानी बरतें।

मतदानकर्मियों ने सुविधा नहीं देने का लगाया आरोप
प्रखंड कार्यालय पर रिजर्व में रखे गए ड्यूटी से वंचित मतदान-कर्मियों ने कोई सुविधा नही मिलने पर हंगामा किया। मतदान कर्मियों ने बताया कि प्रखंड मुख्यालय पर उन्हें तीन दिन से बैठा कर रखा गया है। उन्हें कोई सुविधा उपलब्ध नही करायी गई है। उन्हें न खाने को भोजन मिला है न पीने को पानी। शौचालय और बैठने की भी कोई व्यवस्था नही है। मतदान-कर्मियों ने बताया कि उन्हें भोजन तक के लिए खुद की व्यवस्था पर निर्भर रहना पड़ रहा है और जब प्रखंड विकास पदाधिकारी से उनके रिजर्व में होने का पत्र मांगा जा रहा है तो मना कर दिया जा रहा है। रिजर्व मतदान कर्मियों की माने तो बीडीओ उनकी बात नही सुन रहे हैं। हालांकि इस मामले में निर्वाचन पदाधिकारी सह बीडीओ नील कमल ने बताया कि रिजर्व मे रखे मतदानकर्मी की कभी भी आवश्यकता पर सकती है।

मतदान के दौरान खराब हुईं मशीनों की जगह लायी गयी नयी ईवीएम
मांझी प्रखंड में पंचायत आम निर्वाचन के मतदान के दौरान ईवीएम में खराबी की सूचना मिलने पर दिन भर अधिकारी हलकान रहे। जहां से भी ईवीएम की खराबी की सूचना मिल रही थी, अधिकारी रिजर्व ईवीएम के साथ बूथों की ओर दौड़ते नजर आये। जानकारों की माने तो विभिन्न पंचायतों के करीब 30 बूथों पर ईवीएम में खराबी आयी, जिसे शीघ्र ही बदल दिया गया है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा-शांतिपूर्वक हुआ चुनाव
^5:00 बजे तक 49.89% मतदान हुआ। इसमें महिला मतदाता 22.93 प्रतिशत एवं पुरुष मतदाता का 26.96 मतदान हुआ। सभी मतदान केंद्रों पर स्वच्छ, निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से मतदान प्रक्रिया संपन्न कराने के लिए बेहतर व्यवस्था की गई थी। शांतिपूर्वक चुनाव हुआ।
डॉ. निलेश रामचन्द्र देवरे,जिला निर्वाचन पदाधिकारी,सारण

खबरें और भी हैं...