महामारी:सारण में रेल कारखाने के अिभयंता समेत 9 लोगों की मौत, 320 कोरोना पॉजिटिव मिले

छपरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3049 सैंपल जांच में 1686 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव, अबतक 4719 हुए पॉजिटिव

जिले में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ते जा रहा है। एक दिन में पॉजिटिव केसेज भी बढ़ रहा है। मौत का आंकड़ा भी बढ़ गया है। जिले में कुल 3049 लोगों को सैंपल कलेक्ट किया गया। जिसमें 1686 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। 320 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। बेला रेल पहिया कारखाना के अभियंता समेत कुल नौ लोगों की जान कोरोना संक्रमण की वजह से चली गई। सभी पटना के निजी व सरकारी अस्पतालों में भर्ती थे। वहीं डीएम व एसपी ने चार बजे के बाद शहर में निकल कर खुद ही कर्फ्यू का लागू कराया। इस दौरान शहर की तीन दुकानों को सील कर दी गई। वहीं जिला मुख्यालय समेत प्रखंड मुख्यालयों में अब सप्ताह में दो दिन दुकानें पूर्णत: बंद रहेगी। रविवार और सोमवार को बंद रहेगी।
जिले में 142 कंटेनमेंट जोन एक्टिव
जिले में गुरुवार को 320 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि बीते दिन मंगलवार को 294 पॉजिटिव मरीज पाए गए थे। जिले में पॉजिटिवों की संख्या बढ़कर 4719 तक पहुंच चुकी है। नए मरीजों में सर्वाधिक मरीज सोनपुर, दरियापुर व दिघवारा से पाए गए हैं। जिसमें सोनपुर से 42 पॉजिटिव, दिघवारा से 36 पॉजिटिव एवं दरियापुर से 35 पॉजिटिव शामिल है। जिले में कुल 491 कंटेनमेंट जोन बनाया गया था। जिसमें से 349 कंटेनमेंट जोन को समाप्त किया जा चुका है और फिलहाल जिले में 142 कंटेनमेंट जोन एक्टिव है। सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार एवं डीपीएम अरविंद कुमार ने बताया कि जिले में 320 पॉजिटिव मिलने के बाद संक्रमित की संख्या 4719 है।

डीएम व एसपी ने शहर की दुकानों को बंद कराया, तीन को किया गया सील

अभियंता का 10दिनों से चल रहा था इलाज
दरियापुर प्रखंड स्थित बेला रेल पहिया कारखाना के अभियंता की मौत दानापुर में हो गई। जानकारी के अनुसार पहिया कारखाना के वरिष्ठ खण्ड अभियंता व्हील फाइनल प्रोसेसिंग शॉप 40 वर्षीय श्रीकांत कुमार एक सप्ताह पहले स्वास्थ्य खराब होने पर कोरोना जांच कराया था। जिसमे जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आया था। इस संबंध में कारखाने के सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी उत्तम कुमार ने बताया कि कारखाने के अभियंता श्रीकांत पिछले 10 रोज से इलाजरत थे। जिनकी कल मृत्यु हो गई। वहीं कुल 80 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हैं। जिसमे 3 लोग हॉस्पिटल में है। कारखाना में कुल कार्यरत अधिकारी व कर्मचारी का संख्या 1000 हैं।

मांझी में 17 संक्रमित मिले, महिला की मौत
मांझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के माध्यम से गुरुवार को 110 लोगों की जांच की गई। जिनमें 17 लोग संक्रमित पाये गए। जिनमें 4 लोग बरवां गांव के हैं। जहां एक दिन पूर्व एक युवक के निधन के बाद शिविर लगा कर जांच की गई। उक्त जानकारी हेल्थ मैनेजर विश्वजीत सिंह ने दी। वहीं मदनसाठ गांव की संक्रमित एक 56 वर्षीय महिला का गुरुवार को महाराजगंज के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया।

कोरोना से युवक सहित दो की गई जान
मढ़ौरा प्रखंड के इसरौली पंचायत के चंनना निवासी 46 वर्षीय हरेन्द्र सिंह की मौत कोरोना संक्रमण से हो गयी । डिप्टी सिंह के पुत्र हरेन्द्र सिंह का रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद वह छपरा सदर अस्पताल में भर्ती थे। वहीं उसी गांव के 65 वर्षीय दिनेश श्रीवास्तव की टाइफाइड संक्रमण से मृत्यु हो गयी। जांच में दिनेश श्रीवास्तव का कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आया था, वे चार पांच दिन से बीमार चल रहे थे।

सोनपुर में उपस्टेशन अधीक्षक व एएनएम समेत पांच की मौत
सोनपुर में एक उप स्टेशन अधीक्षक एक एएनएम समेत पांच लोगों की कोरोना संक्रमण से हुई मौत के बाद यहां कि लोग काफी सहम गए हैं। गुरुवार को इस बात की जानकारी देते हुए खुटौना के नोडल पदाधिकारी डॉ अभिषेक कुमार सिन्हा ने बताया कि चिकित्सालय के एक एएनएम के अलावे सुरेंद्र प्रसाद सिंह 68 वर्ष सत्यजीत प्रसाद 30 वर्ष तथा परमानंद तिवारी 65 वर्ष की मौत कोरोना संक्रमण से हो गई। इनमें 3 लोगों का इलाज रेलवे अस्पताल में चल रहा था तथा एक एनएम प्रशिक्षण केंद्र स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती थी।

वहीं स्टेशन मास्टर एसोसिएशन संघ सोनपुर के मंडल सचिव कुमार विजय ने बताया कि सोनपुर रेल मंडल के उप स्टेशन अधीक्षक सरवन कुमार जयसवाल की मौत कोरोना संक्रमण से हो गई। वे पिछले कई दिनों से कोरोना संक्रमित थे तथा उनका इलाज पटना स्थित एक निजी अस्पताल में चल रहा था। उनके मौत की सूचना पर रेल कर्मियों में मायूसी छा गई।

खबरें और भी हैं...