पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शुल्क वृद्धि:पीजी परीक्षा शुल्क बढ़ाने पर अभाविप ने किया विरोध, जबकि यह फीस पहले महज 500 रुपए थी

छपरा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शुल्क वृद्धि कर विवि प्रशासन ने छात्रों का आर्थिक शोषण करने का मन बना लिया

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जेपीविवि संयोजक रवि पांडेय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जेपीविवि में पीजी फर्स्ट सेमेस्टर के परीक्षा शुल्क में बढ़ोतरी का विरोध किया है। अचानक फीस बढ़ोतरी करना कहीं से भी छात्र हित में नहीं है। कोरोना काल के बाद जब से विवि परिसर एवं महाविद्यालय परिसर खुला है, तब से ऐसे ही छात्र छात्रा आर्थिक तंगी झेल रहे है। ऐसे में फीस बढ़ा देना कहीं से भी न्याय संगत नहीं है। छात्र नेता ने कहा इस फीस को बढ़ाने के लिए ना ही सीनेट में चर्चा हुई, ना ही सिंडिकेट में चर्चा हुई और ना ही अकादमी परिषद में चर्चा हुई।

बिना चर्चा के उपरांत ही मनमाने तरीके से विवि प्रशासन द्वारा तुगलकी फरमान जारी करते हुए पीजी फर्स्ट सेमेस्टर का परीक्षा प्रपत्र भरने में 400 अतिरिक्त फीस बढ़ा दिया गया। जबकि यह फीस पहले महज 500 रुपए थी। अब यह बढ़कर ₹900 हो गया है। शुल्क वृद्धि कर विवि प्रशासन ने छात्रों का आर्थिक शोषण करने का मन बना लिया है। जिसका अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छपरा विवि के अंतर्गत आने वाले सभी महाविद्यालयों में जहां भी स्नातकोत्तर की पढ़ाई होती है।

खबरें और भी हैं...