छपरा जहरीली शरबकांड में कार्रवाई:प्रशासन ने माना शराब से हुई मौत, मकेर के थानेदार सहित चौकीदार का हुआ निलंबित

छपरा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छपरा जहरीली शरबकांड में कार्रवाई । - Dainik Bhaskar
छपरा जहरीली शरबकांड में कार्रवाई ।

छपरा के मकेर, अमनौर और मढ़ौरा में जहरीली शराब पीने से अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लेकिन अभी तक जिला प्रशासन इसे संदिग्ध अवस्था मे मौत मान रहे है।

वहीं, जिला प्रशासन शराब से मौत की बात स्वीकारते हुए संबंधित निचले स्तर के कर्मचारियों और अधिकारियों पर कार्रवाई करते दिख रहा है। मंगलवार से शुक्रवार तक चार दिनों में 14 मौत के बाद पहली बार कार्रवाई करते हुए मकेर के थाना प्रभारी राजेंश कुमार और संबंधित घटनास्थल के चौकीदार गणेश मांझी को निलंबित करते हुए चौकीदार को गिरफ्तार कर लिया गया है। चौकीदार पर स्थानीय शराब कारोबारी के साथ सांठ गांठ की बात सामने आई है।

जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के संयुक्त छापेमारी में शराब फैक्ट्री का हुआ था उद्भेदन

अधिकारियों के कमिटी गठित कर मकेर एवं अमनौर थानान्तग र्त सघन छापामारी प्रारंभ की गई। विशेष टीम द्वारा सूचना संकलन कर शराब कारोबारियों को गिरफ्तार किया गया तथा मकेर थानान्तगर्त जगदीशपुर गावं के जनता बाजार में दो कमरे के दुकाननुमा घर से भारी मात्रा में देशी/विदेशी शराब, स्प्रीट एवं मिलावटी शराब बनाने हेतु कई प्रकार के रसायन/ उपकरण आदि बरामद किया गया। सभी जप्त समान और उपकरण शराब बनाने में इस्तेमाल किये जाते हैं। यह वही फैक्ट्री बताई जनरहै है जहाँ से जहरीली शराब बना था।

खबरें और भी हैं...