हाई स्पीड कार गड्ढे में गिरी, 1 की मौत:ड्राइव करते वक्त झपकी आने से पलटी कार; ड्राइव कर रहे डॉक्टर को 20 मिनट बाद पुलिस ने रेस्क्यू किया, पीछे बैठे भाई की मौत

छपरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गड्ढे में पलटी कार। - Dainik Bhaskar
गड्ढे में पलटी कार।

छपरा में मशरक-महम्मदपुर SH-90 पर हाई स्पीड कार गड्ढे में पलट गई, जिसमें 1 की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में कार के अंदर फंसे डॉक्टर को पुलिस ने 20 मिनट बाद रेस्क्यू किया। अब इसे किस्मत कहिए या रब की मेहरबानी, ड्राइव कर रहे डॉक्टर को हादसे में एक खरोंच तक नहीं आई है, जबकि पीछे बैठे उनके भाई की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक की पहचान गोपालगंज के कुचायकोट थाना क्षेत्र के खानपट्टी गांव निवासी शिवजनक राम के पुत्र संजय राम (40 साल) के रूप में की गई है। गश्ती करने वाली पुलिस ने गड्ढे में पलटी कार के शीशे तोड़कर डॉ. राजीव रंजन को कार से बाहर निकाला। थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने कहा कि पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले थाना ले आई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा।

हादसे में सुरक्षित बचे डॉ. राजीव रंजन।
हादसे में सुरक्षित बचे डॉ. राजीव रंजन।

झपकी ने भाई की ले ली जान
गोपालगंज के कुचायकोट थाना क्षेत्र के खानपट्टी गांव निवासी राजीव रंजन ने बताया कि वह गोपालगंज से पटना सरकारी डॉक्टरों की काउंसिलिंग के लिए अपनी कार से जा रहे थे। उनके साथ मौसेरा भाई संजय राम (40 साल) भी था। इसी दौरान मशरक-महम्मदपुर SH-90 पर उन्हें झपकी आ गई और कार सड़क किनारे एक गड्ढे में पलट गई। पीछे बैठे मौसेरे भाई संजय राम गंभीर रूप से घायल होने के कारण बच नहीं सका, जबकि राजीव रंजन को गश्ती करने पहुंची पुलिस ने शीशा तोड़कर रेस्क्यू कर लिया।

जाको राखे साईंया मार सके ना कोय...
कहते हैं ना जाको राखे साईंया मार सके ना कोय। इस हादसे में भी यही हुआ। एक ओर जहां संजय राम हादसे में बुरी तरह घायल हो गया। उसने गाड़ी के अंदर ही दम तोड़ दिया। इधर, डॉक्टर राजीव रंजन 20 मिनट तक गाड़ी के अंदर ही फंसे रहे, लेकिन सुरक्षित रहे। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें गाड़ी से बाहर निकाला, फिर गाड़ी को भी पानी से निकाला। दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल में पेडियाट्रिक, सीनियर रेजिडेंट के रूप में कार्यरत डॉ. राजीव रंजन कुचायकोट थाना क्षेत्र के रामपुरदाउद गांव के राजेन्द्र राम के पुत्र हैं।

खबरें और भी हैं...