छपरा में मोबाइल चार्ज करने के दौरान महिला की मौत:करंट लगने से गई जान, रो-रोकर मां को उठाती रही बेटी

छपरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में मौजूद मृतका का शव। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में मौजूद मृतका का शव।

छपरा के मशरक थाना क्षेत्र के पदुमपुर गांव में मंगलवार को बिजली का करेंट लगने से महिला को अचेतावस्था में इलाज के लिए सीएचसी मशरक में भर्ती कराया गया। जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक डॉ अनंत नारायण कश्यप ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक महिला की पहचान पदुमपुर गांव निवासी बीरबल मांझी की 30 वर्षीय पत्नी माला देवी के रूप में हुई। महिला को मृत घोषित करते ही परिजनों में कोहराम मच गया।

मोबाइल चार्जर के से प्रवाहित हुआ करेंट

परिजनों ने बताया कि महिला घर मे मोबाइल चार्ज कर रही थी। तभी बिजली की चपेट में आने से वह अचेत हो गई। महिला के अचेत होते ही इलाज के लिए सीएचसी मशरक में लाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। महिला नियमित रूप मोबाइल चार्ज करती थी। आज दोपहर में मोबाइल चार्ज के दौरान विद्युत के चपेट में आ गई।

"पापा मम्मी क्यों नहीं जग रही" अबोध बच्ची का सवाल से सबकी आंखे भर आई

मृतिका माला देवी के तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। बच्चों के रुलाई देख सभी लोग मर्माहत हो जा रहे है। मृतिका के तीन बच्चों में सबसे छोटी बेटी अभी अबोध है। ऐसे में अबोध बच्ची रानी अपने पिता बीरबल मांझी से भोजपुरी में बात करते हुए पूछ रही थी कि "पापा मम्मी काहें सूत गइली उठत काहे नइखी"। पांच वर्षीय रानी के सवाल से उपस्थित सभी लोग के आंखों में आंशु आ गए।

खबरें और भी हैं...