अच्छी पहल / स्वास्थ्य केन्द्रों पर बर्थ डोज टीकाकरण रहेगा जारी, 14 दिनों के बाद नियमित सेवा शुरू

Birth dose vaccination will continue at health centers, regular service starts after 14 days
X
Birth dose vaccination will continue at health centers, regular service starts after 14 days

  • संक्रमण रोकथाम के प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

छपरा. कोरोना संक्रमण के कारण नियमित टीकाकरण कार्यक्रम बेहद प्रभावित हुआ है। इसे ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गाइडलाइन्स जारी कर क्षेत्रवार टीकाकरण सेवाओं को बहाल करने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी है। जारी गाइडलाइन्स के अनुसार कोरोना संक्रमण के प्रसार के मुताबिक प्रत्येक जिले को रेड, ऑरेंज व ग्रीन जोन में बांटा गया है।

वहीं रेड व ऑरेंज जोन में कोरोना संक्रमितों की व्यापकता के हिसाब से कंटेनमेंट व बफर जोन भी बनाया गया है। संक्रमण प्रसार की आशंका के मद्देनजर कंटेनमेंट व बफर जोन में स्वास्थ्य केन्द्रों व आउटरीच क्षेत्रों में नियमित टीकाकरण को फिलहाल रोका गया है। लेकिन सभी क्षेत्रों (कंटेनमेंट व बफर जोन सहित) के स्वास्थ्य केन्द्रों पर बर्थ डोज टीकाकरण जारी रहेगा।
बफर व ग्रीन जोन में होगा टीकाकरण
कंटेनमेंट व बफर जोन में स्वास्थ्य केंद्र आधारित टीकाकरण एवं आउटरीच टीकाकरण सेशन (ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता व पोषण दिवस) अभी शुरू नहीं होगा। लेकिन बफर जोन को छोड़कर व ग्रीन जोन में स्वास्थ्य केंद्र आधारित टीकाकरण एवं आउटरीच टीकाकरण सेशन कुछ शर्तों के साथ शुरू होगा। जिसमें आउटरीच सेशन पर एक समय में 5 से अधिक लोगों को उपस्थित रहने की मंजूरी नहीं मिलेगी। 
टीकाकरण के दौरान बरतनी होगी सतर्कता
संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए स्वास्थ्य केन्द्रों पर होने वाले टीकाकरण के दौरान विशेष सावधानी बरतने की सलाह गाइडलाइन्स में दी गयी है। टीकाकरण के पूर्व हवादार स्थान का चयन करना होगा एवं यह भी सुनिश्चित करना होगा कि प्रत्येक लोग एक दूसरे से 1 मीटर की दूरी पर ही बैठें। स्वास्थ्य केंद्र पर टीकाकरण लोड के मुताबिक पूर्व में ही फिक्स्ड टीकाकरण कर्मियों का चयन करना होगा। टीकाकरण कर्मियों को ग्लोब्स, तीन लेयर वाले मास्क व टीकाकरण करने से पूर्व हाथों को सेनेटाइज्ड करना होगा। 
वीएचएसएनडी सत्र आयोजन के लिए दिए गए निर्देश
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस (वीएचएसएनडी) के आयोजन को लेकर कुछ जरूरी दिशा-निर्देश दिया है।
• वीएचएसएनडी सत्र पर लोगों की भीड़ कम करने के लिए सत्र को प्रत्येक घंटे के हिसाब से बांटने की सलाह दी गयी है। प्रत्येक घंटे के स्लॉट में 4-5 लाभार्थियों को ही उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं।
• प्रत्येक वीएचएसएनडी सत्र को दो सेशन में बांटने के निर्देश दिए गए हैं, जिसमें अतिरिक्त सेशन के संचालन के लिए रिटायर्ड एएनएम एनएनएम, स्टाफ नर्सेज आदि या प्रशिक्षित पुरुष स्वास्थ्य कर्मी की नियुक्ति की जा सकती है।
• वीएचएसएनडी सत्र के एक दिन पूर्व ही आशा के द्वारा चिह्नित लाभार्थी को कॉल कर जानकारी दी जाएगी
• सत्र के दौरान एएनएम को कोरोना रोकथाम के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा। साथ ही सत्र पर जरूरी वैक्सीन के साथ ओआरएस, जिंक, आइएफए, कैल्शियम आदि की उपलब्धता भी सुनिश्चित करानी होगी
• एएनएम सामाजिक दूरी का पालन करते हुए वेटिंग पीरियड के दौरान संक्रमण की रोकथाम पर जानकारी

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना