साइबर फ्राॅड:नियोजित शिक्षक के खाता से साइबर अपराधियों ने 8 लाख 25 हजार उड़ाया

छपरा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिक्षक बैंक से ऋण लिया हुआ था,इसके अलावा वेतन व चुनाव कार्य के साथ पूर्व का राशि खाता में था

स्थानीय थाना क्षेत्र के एक नियोजित शिक्षक के बैंक खाता से साइबर अपराधियों ने लाखों रुपया उड़ा लिया। पीड़ित शिक्षक अपहर गांव के देवलाल राम के पुत्र दशरथ राम बताया जाता है। जो प्राथमिक विद्यालय खरीदहा पूर्वी विद्यालय में सहायक शिक्षक के रूप में कार्यरत है। इस मामले को लेकर शिक्षक ने थाना में एक लिखित शिकायत किया है। इनका आरोप है कि मेरा सैलरी खाता एसबीआई अमनौर में है। आवश्यक कार्य को लेकर बैंक से तीन जून 2021 को पर्सनल ऋण 7 लाख पचास हजार रुपया लिया था। ऋण का पैसा के अलावा तीन माह का वेतन व पूर्व की राशि मिलाकर खाता में आठ लाख 25 हजार 94 रुपया बैंक खाता में अवशेष था। राशि निकासी के लिए जब गुरुवार को बैंक गया तो बैंक कर्मी द्वारा बताया गया कि आपके खाता में कोई राशि नहीं है। ये भौचक रह गए।

जबकि खाता से इनका मोबाइल नंबर भी जुड़ा हुआ था। तीन जून 2021 से मोबाइल पर एसएमएस आना बंद हो गया था। कोई राशि का उठाव भी इनके द्वारा नहीं किया गया है। राशि नहीं सुन शिक्षक ने इसकी शिकायत शाखा प्रबंधक से किया। शाखा प्रबंधक ने बैंक खाता का सारणी निकालकर देखा इस मामले में छानबीन शुरू कर दिया। शिक्षक ने बताया कि मैं इसके पूर्व भी राशि उठाव के लिए आया था लेकिन बैंक कर्मी द्वारा खाता होल्ड होने की बात कहा राशि नहीं दिया गया था। खाता से अवैध निकासी हो जाने से पीड़ित शिक्षक के घरों में रुंडन कुंदन का माहौल बन गया है। शिक्षक काफी गरीब असहाय परिवार से है। इधर आवेदन मिलते ही पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई है।

खबरें और भी हैं...