पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खतरा बढ़ा:तरैया के 25 और पानापुर के 8 गांवों में बाढ़ का पानी, तरैया के सगुनी में ग्रामीण सड़क के ऊपर से बह रहा है पानी

छपरा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गंडक में उफान, गंगा शांत, बराज से 3.40 लाख क्यूसेक पानी छूटा, 15 हजार आबादी प्रभावित, आज और बढ़ेगा जलस्तर

नेपाल के गंडक ब्राज से छोड़े गए पानी के कारण प्रखण्ड के गंडक नदी का जल स्तर बढ़ गया है। जिस कारण बांध के पूर्वी क्षेत्र के दर्जनों गांव जलमग्न हो गए है। माधोपुर एवं चंचलिया पंचायत के 25 गांव जल से घिर गए है। माधोपुर पंचायत के अरदेवा,जिमदाहा,सगुनी,शामपुर,राजवाड़ा, माधोपुर मल्लाह टोली, बनिया हसनपुर आदि गांव चारो तरफ से जल से घिर गए है। माधोपुर पंचायत के मुखिया सुशील कुमार सिंह ने अपने निजी स्तर से लोगों को ऊंचे स्थानों पर शरण लेने के लिए तीन नाव की तत्काल व्यवस्था की है।

सीओ से संसाधन उपलब्ध कराने की मांग की है।चंचलिया पंचायत के चंचलिया दियरा,बलुआ मर्दन,राजधानी,भलुआ आदि गांव में भी पानी भर गया है। इधर खदरा नदी,गड़की नदी और मही नदी के जलस्तर में वृद्धि के कारण बांध के पश्चिमी क्षेत्र के दर्जनों गांव पहले से प्रभावित है। अब गंडक नदी के जल स्तर में वृद्धि से बांध के पूर्वी क्षेत्र के भी दर्जनों गांव जलमग्न हो गए है। जिससे लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। खदरा नदी में बने अपूर्ण डायवर्सन के कारण खदरा नदी और गड़की नदी का जलस्तर बढ़ गया। जिससे किसानों के हजारों एकड़ में लगे धान की फसल डूब चुकी है।

मही नदी के संकीर्ण होने के कारण जलस्तर में वृद्धि
मही नदी के संकीर्ण होने के कारण जलस्तर में वृद्धि से पचरौर पंचायत के टिकमपुर, पचरौर दलित बस्ती, आकुचक, नारायणपुर पंचायत के रामपुर महेश,रामपुर केशव और नारायणपुर,भटगाई पंचायत के भटगाई एवं मौलानापुर गांव के किसानों के फसल डूब गए है। जबकि टिकमपुर, चंचलिया पचरौर, आकूचक, सिरमी, गलिमापुर एवं सानी खराटी गांवों के लगभग 100 घरों में पानी घुस गया है।

बांध के पश्चिमी क्षेत्र के ये गांव सरकार के सिस्टम की लापरवाही के कारण जलमग्न हुए है।खदरा नदी और गड़की नदी का जल स्तर खदरा नदी में बनाये गए अपूर्ण डायवर्सन के कारण बढ़ा है।ग्रामीण डायवर्सन तोड़ने की मांग तीन सप्ताह के कर रहे है। लेकिन प्रशासन ने कोई सुधि नहीं ली है। केवल डायवर्सन पुनः निर्माण के नाम पर खानापूर्ती की जा रही है।पहले डायवर्सन में दो साइफन लगे थे। अब चार पांच लगाकर कोरम पूरा किया जा रहा है। तीन दिन से डायवर्सन निर्माण के नाम पर केवल ईंट के टुकड़े गिराए जा रहे है।

30 वर्ष पहले मही नदी की सफाई कराई गई थी
अब किसानों के फसल तो डूब ही गये घरों तक पानी आ गया। फिर भी ऐसा डायवर्सन की मोटरसाइकिल,साईकिल और वाहन कौन कहे पैदल चलना भी दूभर है। मही नदी की सफाई 30 वर्ष पूर्व हुई थी उसके बाद कभी सफाई नही कराई गई। जिससे नदी के संकीर्ण हो जाने के कारण लोगों के घरों तक पानी पहुंच गये।लगभग दो सप्ताह से बाँध के पूर्वी क्षेत्र के लोग यह समस्या झेल ही रहे थे कि अब गंडक का जल स्तर बढ़ जाने से पूर्वी क्षेत्र के लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।लेकिन सरकारी स्तर पर प्रभावित लोगों की अबतक कोई सुधि नही ली गई है। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें