पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहल:जेपी यूनिवर्सिटी में सात करोड़ से बनेगा इंटरनेशनल एथलेटिक ट्रैक

छपरा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रैक निर्माण को लेकर बैठक करते कुलपति प्रोफेसर फारूक अली - Dainik Bhaskar
ट्रैक निर्माण को लेकर बैठक करते कुलपति प्रोफेसर फारूक अली

खेलो इंडिया योजना के तहत जयप्रकाश विश्वविद्यालय में सात करोड़ रुपए की लागत से इंटरनेशनल एथलेटिक ट्रैक बनेगा। इसकी प्रशासनिक स्वीकृति युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार तथा कला, संस्कृति एवं युवा विभाग बिहार सरकार से मिल गई है। इसको लेकर कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर फारूक अली ने पटना से आए खेलो इंडिया से जुड़े अधिकारियों के साथ सोमवार को अहम बैठक की। बैठक में विश्वविद्यालय के वित्तीय सलाहकार एके पाठक, सीसीडीसी सह प्रभारी कुलसचिव डॉ हरीशचंद्र, डीएसडब्ल्यू अमरेंद्र झा, इंजीनियर प्रमोद कुमार सिंह भी मौजूद थे।

खेलो इंडिया योजना के तहत बनने वाले ट्रैक को ले कुलपति संग अधिकारियों की हुई बैठक

वीसी ने ट्रैक के निर्माण पर एक-एक बिंदु पर जानकारी ली
कुलपति ने अधिकारियों से ट्रैक के निर्माण के बाबत एक-एक बिंदु पर जानकारी ली। उन्होंने उम्मीद जताई की बहुत ही बेहतर और विश्वस्तरीय ट्रैक का निर्माण होगा। जिससे खेल को बढ़ावा मिलेगा। उनकी हमेशा कोशिश रही है कि पढ़ाई के साथ-साथ खेल को भी हर संभव प्रोत्साहन मिले। उन्हें संतोष है कि वे इस दिशा में सफल हो रहे हैं। उन्होंने बीते फरवरी में ही इस ट्रैक व मल्टीपरपज हॉल के लिए प्रस्ताव भेज दिया था। जिसके आलोक में यह स्वीकृति मिली है। लगभग 77 सौ स्क्वायर मीटर में सिंथेटिक ट्रैक का निर्माण होगा।

सूबे में सभी विश्वविद्यालयों में 51 करोड़ रुपए की प्रशासनिक स्वीकृति
खेलो इंडिया योजना के तहत बिहार के विभिन्न विश्वविद्यालयों में खेल संरचना के निर्माण के लिए भारत सरकार ने 51 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की है। जिसमें सबसे ज्यादा जयप्रकाश विश्वविद्यालय को साढ़े ग्यारह करोड़ रुपये मिले हैं। जिसमें से एक इंटरनेशनल लेवल का सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक व एक मल्टी परपज हॉल का निर्माण करना है।

1 साल में काम हो जाएगा पूरा
सोमवार को राज्य शैक्षणिक एवं आधारभूत संरचना के कनीय अभियन्ता आमोद कुमार, इंजीनियर रोहित कुमार एवं संजीव कुमार शिवनरेश स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली के इंजीनियर की टीम ने कुलपति प्रोफेसर फारूक अली से मुलाकात किया। टीम के सदस्यों ने कहा कि शीघ्र ही विश्वविद्यालय कैम्पस में स्टेडियम बनाने का काम प्रारंभ हो जायेगा। मालूम हो कि यह कार्य कॉन्ट्रैक्ट होने के बाद 1 साल के भीतर सम्पन्न होना है। इस कार्य के लिए स्वायल टेस्ट और अन्य कार्य प्रारंभ करने के लिए दिल्ली से टीम आ गयी है।

खबरें और भी हैं...