पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वर्चुअल बैठक:जेपीविवि के नवनियुक्त शिक्षकों ने पुराने शिक्षकों के नेतृत्व पर जताया असंतोष

छपरा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा- संघ के चुनाव होने तक बनाएंगे फोरम, जरूरत पड़ी तो संघ के संविधान संशोधन की भी तैयारी

जेपीविवि में सक्रिय शिक्षक संगठन में अब पुराने व नए नेतृत्व के बीच मतभेद की दीवार बढ़ना शुरू हो गया है। हाल ही में विवि के पीजी शिक्षक संघ के सचिव द्वारा जारी विज्ञप्ति जिसमें जेपीविवि के शिक्षकों द्वारा कोरोना पीड़ितों के सहायतार्थ एक दिन का वेतन सीएम रिलीफ फंड में देने के निर्णय को कई कॉलेज शिक्षक संघ द्वारा विरोध किया गया था। बहरहाल पुराने नेतृत्व से नाखुश बीपीएससी-2014 के तहत नियुक्त शिक्षकों ने गोलबंदी शुरू कर दी है। लॉकडाउन होने के कारण को रविवार को नये शिक्षकों ने जेपीविवि के शिक्षक संघ विषय पर वर्चुअल बैठक किया।

बैठक में नवनियुक्त शिक्षकों ने पुराने शिक्षक संघ को लेकर निराशा व्यक्त करते हुए उसे निष्क्रिय बताया। नए शिक्षक अपने एनपीएस, एरियर, सेवा संपुष्टि आदि की समस्या को लेकर चिंतित हैं। बैठक में शामिल अधिकांश शिक्षकों का कहना है कि जितना जल्दी हो सके हमें एक सक्रिय शिक्षक संघ खड़ा करना है।

बैठक में निर्णय लिया गया कि जून माह के प्रथम सप्ताह में एक और बैठक का आयोजन किया जाएगा जिसमें नवनियुक्त शिक्षकों की ओर से एक फोरम बनाया जा सकता है जो संघ के चुनाव होने तक अपनी समस्याओं को विश्वविद्यालय प्रशासन के समक्ष रखेगा और साथ ही पुराने संघ को पुनर्जीवित करने के लिए संघ से जुड़े लोग तथा अन्य सीनियर शिक्षकों के साथ बैठक कर चुनाव समिति का गठन करेगा। अधिकांश शिक्षकों का मानना है कि अंगीभूत महाविद्यालय तथा स्नातकोत्तर विभाग के सभी जूनियर-सीनियर को एक साथ करके संघ का चुनाव कराया जाए।

शिक्षकों ने कहा कि यदि पुराने संघ के संविधान में संशोधन की जरूरत पड़ी तो उसके लिए भी हमलोग सीनियर के साथ मिलकर एक कोआर्डिनेशन कमिटी बनाने पर विचार करेंगे। नवनियुक्त शिक्षकों के वर्चुअल बैठक में डीएवी सिवान से डॉ धन्नंजय यादव, डॉ पवन कुमार, डॉ अविनाश कुमार, डॉ रामानुज कौशिक, डॉ आशुतोष गोपेश्वर कॉलेज हथुआ से डॉ संजय सुमन, डॉ मनोज कुमार,राजेन्द्र कॉलेज से डॉ रामानुज यादव, डॉ शादाब हाशमी, डॉ. अल्लाउद्दीन, डॉ. आलोक रंजन तिवारी जगदम कॉलेज से डॉ अनमोल ठाकुर, डॉ रहमान,जगलाल चौधरी से संदीप यादव,वाईएन कॉलेज दिघवारा से डॉ. शैलेश यादव परसा से अनिल कुमार,एचआर कॉलेज अमनौर से डॉ रणजीत कुमार स्नेही,पीजी विभाग से डॉ स्निग्धा, एनएलएस कॉलेज से डॉ टी. गंगोपाध्याय और डॉ दिनेश पाल जेपीएम कॉलेज से बबिता प्रधान आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...