• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Chhapra
  • Most Pending Cases In Five Zones In Filing rejection, DM Expressed Displeasure, Said Speed Up The Work, Otherwise The Salary Will Be Stopped

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग:दाखिल-खारिज में पांच अंचलों में पेंडिंग मामले सबसे ज्यादा, डीएम ने जताई नाराजगी, कहा-काम में तेजी लाएं, नहीं तो वेतन बंद होंगे

छपरा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलाधिकारी ने दिया दाखिल-खारिज के कार्यों में तेजी लाने का सख्त निर्देश

सारण के जिलाधिकारी राजेश मीणा ने समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में वीडियो काॅफ्रेसिंग के माध्यम से जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारी, डीसीएलआर, अंचलाधिकारी के साथ राजस्व समन्वय समिति तथा नीलाम पत्र वादों की समीक्षात्मक बैठक आहूत की गयी। इस दौरान अपर समाहर्ता सारण एवं डीसीएलआर सदर कार्यालय कक्ष में उपस्थित थे। समीक्षा के क्रम में सर्वप्रथम जमीन के दाखिल खारिज से संबंधित मामलों की गहन समीक्षा की गयी। काफी बड़ी संख्या में तरैया, मशरक, गड़खा, जलालपुर, सोनपुर अंचलों में दाखिल खारिज के मामले लंबित पाये जाने पर समाहर्ता ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए दाखिल खारिज के कार्यों में तेजी लाने का सख्त निर्देश दिया।

जलालपुर अंचलाधिकारी को अनधिकृत रुप से मुख्यालय से बाहर रहने के कारण तत्काल प्रभाव से वेतन स्थगित रखने का निर्देश समाहर्ता के द्वारा दिया गया। अतिक्रमण से संबंधित प्रतिवेदन को अपूर्ण बताते हुए पुनः अद्यतन प्रतिवेदन भेजने का निर्देश दिया गया। अभियान बसेरा के तहत पूर्व के निर्देश के आलोक में प्रति हल्का कम से कम एक लाभुक की बंदोबस्ती करने की समीक्षा की गयी। अपेक्षित प्रगति नहीं होने पर समाहर्ता द्वारा नाराजगी व्यक्त की गयी और आवश्यक निर्देश दिया गया। भूदान से संबंधित लंबित मामले की पुष्टि करने को कहा गया। सरजमीनी सेवा एवं ऑनलाइन लगान लिये जाने की स्थिति की सघन समीक्षा व अनुश्रवण करने का निर्देश सभी अंचलाधिकारियों को दिया गया।

दाखिल खारिज न कराने से होते हैं कई और नुकसान
यदि आपने अपनी प्रॉपर्टी का दाखिल खारिज नहीं कराया है और भविष्य में सरकार को किसी प्रोजेक्ट के तहत उसका अधिग्रहण करना है तो आपको उस जमीन के एवज में कोई मुआवजा नहीं मिल पाएगा। इसके अलावा किसी प्राकृतिक आपदा में होने वाले नुकसान के बाद सरकारी राहत सिर्फ उन्हीं लोगों को मिलती है जिनकी प्रॉपर्टी का दाखिल खारिज हुआ रहता है। जिस प्रॉपर्टी का दाखिल खारिज नहीं होता, उस प्रॉपर्टी के एवज में आप किसी बैंक से लोन भी नहीं ले सकते हैं। किसी भी तरह की जमीन खरीदते समय इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि सिर्फ रजिस्ट्री करा लेना ही जरूरी नहीं है।

खबरें और भी हैं...