सफलता:सारण में मोस्टवांटेड समेत दो कुख्यातों को पुलिस ने पकड़ा, हथियार भी मिले, दोनों पर हैं कई केस

छपराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार अपराधियों के बारे में जानकारी देेते पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार अपराधियों के बारे में जानकारी देेते पुलिस अधिकारी।
  • गिरफ्तार अपराधी हत्या, लूट,चोरी तथा आर्म्स एक्ट के आरोपी, दोनों से एसआईटी टीम कर रही है पूछताछ

जिले के रिविलगंज पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दो कुख्यात अपराधी को हथियार व लूट की मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अपराधी रिविलगंज थाना क्षेत्र के नवादा गांव निवासी स्वर्गीय वशिष्ट नारायण सिंह का पुत्र रवि रंजन सिंह तथा नयका बड़का बैजू टोला निवासी अंनत सिंह का पुत्र शिवा सिंह बताया जाता है। रेलवे ढाला के पास की गयी थी घेराबंदी मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी हत्या,लूट सहित दर्जनों कांड में फरार चल रहे दो कुख्यात अपराधी लूट की मोटरसाइकिल के साथ जा रहे है। सूचना के आधार रिविलगंज थाना क्षेत्र के पहिया रेलवे ढ़ाला के समीप घेरा बंदी कर दोनो को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने 315 बोर का दो देशी कट्टा 315 बोर का पांच जिंदा कारतूस चोरी की होंडा यूनिकॉर्न मोटरसाइकिल तथा दो मोबाइल बरामद किया है। दोनों गिरफ्तार अपराधी हत्या,लूट,चोरी तथा आर्म्स एक्ट के मुफ्फसिल, दिघवारा,रिविलगंज, मांझी,भगवान बाजार थानों के कांड में फरार चल रहा था। सारण पुलिस को दोनों कुख्यात अपराधियों की लम्बे समय से तलाश थी। जेल से छूटने के बाद दोनों ने लगातार हत्या, लूट की घटना को अंजाम देकर पुलिस की नींद उड़ा दिया था।

इन कांडों में दोनों कुख्यात फरार चल रहे थे
मुफ्फसिल थाना कांड संख्या 629/21, मुफ्फसिल थाना कांड संख्या 652/21, मुफ्फसिल थाना कांड संख्या 668/21, दिघवारा थाना कांड संख्या 383/21, मांझी थाना कांड संख्या 436/21, मांझी थाना कांड संख्या 439/21, रिविलगंज थाना कांड संख्या 417/21, रिविलगंज थाना कांड संख्या 418/21, रिविलगंज थाना कांड संख्या 421/21, रिविलगंज थाना कांड संख्या 422/21 आदि।

कई कांडों में दोनों ने संलिप्ता स्वीकार की है
अपराधियों ने कई कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है। दोनों ने दिघवारा में गोली कांड,रिविलगंज में दवा व्यवसायी को गोली मारने,रिविलगंज में टेकनिवास के पास बस चालक से लूट तथा गोली चलाने के अलावा मांझी में मुबारपुर में मुखिया के ससुर को गोली मारने,मांझी के घनी छपरा में युवक को रोककर गोली मारने के अलावा मुफ्फसिल में लूट की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

गिरफ्तार अपराधी को पुलिस लेगी रिमांड पर
अपराधियों को मांझी पुलिस रिमांड पर लगी। पुलिस के सामने दोनों के द्वारा मांझी के मुबारकपुर के मुखिया आरती देवी के ससुर मथुरा यादव के गोली मारकर हत्या करने तथा घनी छपरा गांव के समीप छपरा से घर लौट रहे युवक को रोकर गोली मारने के मामले में रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगा। मुखिया के ससुर के गोली मारने में लाइनर की भूमिका तथा सुपारी किलर के बारे में पूछताछ होगी।

एसआईटी की टीम कर रही है पूछताछ
गिरफ्तार अपराधियों ने कई थानों की पुलिस के अलावा एसआईटी की टीम लगातार पूछताछ कर रही हैं। छापेमारी दल में रिविलगंज के थानाध्यक्ष ओम प्रकाश चौहान,एसआईटी प्रभारी राम सेवक रावत,मुफ्फसिल अपर थानाध्यक्ष विकास कुमार, सअनि श्याम बिहारी पांडेय,अख्तर खां, परि० पुअनि कुंदन कुमार के अलावे बड़ी संख्या में जिला शस्त्र बल के जवान शामिल थे।

खबरें और भी हैं...