पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महामारी:सारण में कोरोना से रेलवे के ट्रैक मैन और चार लोगों की मौत, 265 कोरोना पॉजिटिव मिले

छपराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अबतक 5000 एक्टिव पाॅजिटिव मरीज, कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर हुई 225

जिले में शुक्रवार को 256 पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि बीते दिन 359 पॉजिटिव मरीज पाए गए थे। इस प्रकार जिले में एक्टिव पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर अब 5000 के करीब पहुंच चुकी है। वह जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी तेजी से बढ़ने लगी है। बताते चलें कि जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 573 तक पहुंच चुकी है। जिसमें से 349 कंटेनमेंट जोन को समाप्त किया जा चुका है और फिलहाल जिले में 225 कंटेनमेंट जोन एक्टिव है। इस बात की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ. जनार्दन प्रसाद सुकुमार एवं डीपीएम अरविंद कुमार ने बताया कि जिले से 265 नए पॉजिटिव मरीजों के मिलने के बाद जिले में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 5000 तक पहुंच चुकी है। यहां बता दें कि ट्रैक मैन समेत पांच लोगों की मौत हो गई है।
एसपी ने कंट्रोल रूम को दी सूचना
छपरा शहर के जैन कॉलोनी तेलपा में एक कोरोना पीड़ित की मौत के 12 घंटे तक शव पड़ा रहा। घर के सभी सदस्य संक्रमित है। तीन दिन पहले बेटे की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। उसके बाद पिता भी गुजर गये। मौत के 12 घंटे तक शव पड़ा रहा। इसकी जानकारी मुहल्ले के लोगों ने सारण एसपी को दी। एसपी ने संज्ञान लेते हुए कंट्रोल रूम के अफसर व पुलिस पदाधिकारी को सूचित कर मदद पहुंचाया।

शहर के जैन कॉलोनी तेलपा में संक्रमित की मौत के बाद 12 घंटे तक शव पड़ा रहा, घर के सभी सदस्य पॉजिटिव है, तीन दिन पहले बेटे की भी कोरोना से जा चुकी है जान, पिता भी नहीं रहे

सोनपुर में शुक्रवार को हुई जांच में संक्रमित मरीज की संख्या में थोड़ी कमी आई है। सोनपुर रेल मंडल में कार्यरत एक ट्रैक मैन की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। इस बात की जानकारी देते हुए रेलवे अस्पताल कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि उक्त ट्रैक मैन कोरोना संक्रमित थे। पिछले 6 तारीख को उन्हें यहां भर्ती कराया गया था। इसी बीच इलाज के दौरान शुक्रवार को उनकी मौत हो गई। डॉक्टर श्री सिंह ने बताया कि 10 लोगों की जांच में एक भी संक्रमित मरीज नहीं पाए गए।

वहीं दूसरी ओर सोनपुर अनुमंडलीय चिकित्सालय के हेल्थ मैनेजर ने बताया कि यहां एसडीएच के अलावे एएनएम प्रशिक्षण केंद्र व अन्य कई केंद्रों पर हुए 193 लोगों की रैपिड जांच में 27 लोग संक्रमित पाए गए। वहीं 195 लोगों का आरटी पीसीआर जांच किया गया। मैनेजर ने बताया कि संक्रमित मरीज के निकट संपर्क में आए हुए लोगों की जानकारी ली जा रही है। बहुत ज्यादा संपर्क में आए हुए लोगों का भी जांच किया जाएगा। सभी संक्रमित मरीज को होम क्वारेंटाइन रहने की सलाह तथा ज्यादा तकलीफ होने पर डॉक्टर के संपर्क में होने की बात कही गई।

पॉजिटिव महिला ने स्वस्थ्य बच्चे को दी जन्म, मां की मौत
सोनपुर प्रखंड के बाजितपुर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां जन्म देने के चंद घंटे बाद जननी नवजात को हमेशा के लिए दुनिया से छोड़कर चल बसी। यह खबर जैसे ही बाजीतपुर के राजकुमार सिंह के यहां पहुंची परिवार वालों में कोहराम मच गया। जानकारी के अनुसार राजकुमार सिंह की सुपुत्री रजनी सिंह गर्भ से थी। इसी बीच उसकी तबीयत खराब हो गई। डॉक्टर ने उसे टाइफाइड बताया। उक्त महिला का इलाज पटना स्थित एक निजी अस्पताल में चल रहा था। इसी बीच उसे प्रसव पीड़ा हुई। बुखार के कारण उसका तबीयत और ज्यादा खराब होने लगी। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि अस्पताल में जांच के दौरान वह कोरोना संक्रमित भी पाई गई। हालांकि कोरोना संक्रमित होने की अभी तक अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई। प्रसव पीड़ा के उपरांत रजनी ने एक पुत्र को जन्म दिया।

एकमा में 12 पॉजिटिव मिले
एकमा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में शुक्रवार को 145 लोगों की जांच रैपिड एंटीजन किट से की गयी। प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक राजू कुमार ने बताया कि बरेजा, बरवां, जैतपुर, लाकठ छपरा, बिशुनपुरा, गोबरही, योगियां, शिवरी मठिया के एक-एक, एकमा के दो, धर्मपुरा के दो सहित 12 लोग पॉजिटिव मिले। जिन्हें दवा के साथ होम क्वारेंटाइन भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...