छपरा में बनी रिफ्यूजल रिस्पांस टीम:कोरोना टीका लेने से इनकार करने वालों की बदलेगी सोच, 100 फीसदी टीकाकरण के लिए सरकार ने की पहल

छपरा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घर-घर पहुंच लोगों को टीका लगा रही स्वास्थ्य विभाग की टीम। - Dainik Bhaskar
घर-घर पहुंच लोगों को टीका लगा रही स्वास्थ्य विभाग की टीम।

कोविड टीकाकरण के रास्ते में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लगातार सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए विभाग द्वारा हर घर दस्तक अभियान चलाया जा रहा है। टीकाकरण को लेकर लोगों के मन फैली भ्रांतियां अभी भी बाधक बन रही है। इसको दूर करने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने 'रिफ्यूजल रिस्पांस टीम' का गठन किया है।

टीकाकरण सुनिश्चित कराना है काम
जिले के सभी प्रखंडों में इसके लिए टीम गठित की गई है। इस टीम में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों के साथ-साथ सहयोगी संस्था केयर इंडिया, यूनिसेफ और विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधियों को भी शामिल किया गया है। टीम को जिम्मेदारी दी गई है कि जहां पर लोग टीका लेने से इनकार कर रहे वहां पर तुरंत रिस्पांस करना है। उनका काम मना कर रहे लोगों को टीका के फायदों के बारे में जानकारी देना है। तथा उनके मन आ रही भ्रांतियों को दूर करते हुए टीकाकरण सुनिश्चित कराना है। रिफ्यूजल रिस्पांस टीम गांव स्तर पर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को निवर्हन करते हुए टीकाकरण के रास्ते में आ रही बाधाओं को दूर कर रही है।

टीम को मिल रही है सफलता
सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि- जिले में हर घर दस्तक अभियान के तहत घर-घर जाकर लाभार्थियों को टीका लगाया जा रहा है। जहां पर रिफ्यूजल एरिया है वहां चिह्नित करते हुए टीम के माध्यम से रिस्पांस किया जा रहा है। साथ ही टीका के महत्व पर जानकारी दी जा रही है। टीका लेने से इनकार करने वाले रिफ्यूजल को काउंसलिंग कर टीका के फायदे के बारे में जानकारी दी जाती है। इसके बाद ऑन द स्पॉट टीकाकरण सुनिश्चित किया जा रहा है। हर घर दस्तक अभियान के तहत घर-घर जाकर वंचितों व दूसरे डोज के लाभार्थियों को कोविड- 19 का टीका लगाया जा रहा है। साथ ही दूसरे डोज के पात्र लाभुकों को प्रखंड स्तर पर वाॅर रूम स्थापित करते हुए दूरभाष पर अपना दूसरा डोज लगाने के लिए कहा जा रहा है।

हर घर दस्तक दे रहें स्वास्थ्य कर्मी
टीकाकरण कार्यक्रम को आसान बनाया गया है। ताकि कोई लाभार्थी वैक्सीन से वंचित नहीं रहे। अब स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा घर-घर जाकर टीका दिया जा रहा है। नियमित टीकाकरण दिवस (बुधवार एवं शुक्रवार) के दिन नियमित टीकाकरण के टीकों के साथ-साथ कोविड 19 का टीका एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों यथा सिरिंज कॉटन आदि भी पर्याप्त मात्रा में सत्र स्थल पर भिजवाया जाता है। ताकि कोविड 19 के वंचित योग्य लाभार्थी को आवश्यकतानुसार सुविधा उपलब्ध कराया जा सके। तथा इससे संबंधित आकड़ों का संधारण अलग से किया जाए। उसी दिन कोविन पोर्टल पर प्रखंड स्तर से आकड़ों को संधारित कराया जाए।