अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा गोढ़ना स्टेडियम:मशरख के एकमात्र स्टेडियम की स्थिति जर्जर, जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक उदासीनता का है शिकार

छपरा2 महीने पहले
स्टेडियम में मौजूद स्थानीय लोग।

मशरक थाना क्षेत्र के सेमरी पंचायत के गोढ़ना गांव अवस्थित गोढ़ना स्टेडियम आपने बदहाली पर आंसू बहा रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के उदासीन का शिकार बने स्टेडियम के उद्धार के लिए लोग मांग कर रहे हैं। स्थानीय युवक और खिलाड़ियों के मांग पर मिट्टीकरण कार्य कराया जा रहा है। मामले में मंगलवार को पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि दिलीप सिंह के द्वारा स्टेडियम में मिट्टीकरण का कार्य टैक्टर के द्वारा किया जा रहा था। उसी को सोनौली गांव निवासी राशीद हसन खां उर्फ ललन खां के द्वारा निजी जमीन बताकर कार्य को रोक दिया गया। मामले में थाना पुलिस को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई गयी।

आवेदन में राशीद हसन खां उर्फ ललन खां ने बताया कि सिकटी भिखम गांव में उनकी 4 बिगहा 5 कट्ठा 18 घूर निजी जमीन हैं, जो गोढ़ना उच्च विद्यालय को खेल मैदान के लिए दिया गया है। उसी जमीन पर मेरी इजाजत से स्टेडियम का निर्माण वर्ष 2008 में हुआ। उसी मे निजी जमीन पर सेमरी मुखिया प्रतिनिधि दिलीप सिंह के द्वारा एक दर्जन टैक्टर से जबरदस्ती मिट्टी भराई कार्य शुरू किया गया। उसी को रोकने पर जान से मारने की धमकी दी गयी और अभद्र व्यवहार किया गया।

वही सेमरी मुखिया प्रतिनिधि दिलीप सिंह ने बताया कि स्टेडियम की जर्जर हालत देख स्थानीय ग्रामीणों की मांग पर मिट्टी भराई कार्य शुरू किया गया, जिसे ललन खां द्वारा निजी जमीन बता कार्य रोक दिया गया है। वही सोनौली पंचायत के मुखिया इम्तेयाज खान उर्फ चुन्नू बाबू ने बताया कि ग्रामीणों की मांग पर वर्ष 2008 में सांसद रहें प्रभुनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री जिला विकास योजना अंतर्गत जनता उच्च विद्यालय के खेल मैदान में स्टेडियम का निर्माण कराया, जिसका शिलान्यास विशिष्ट अतिथि गौतम सिंह राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार उधोग विभाग बिहार की मौजूदगी में राजद विधायक केदारनाथ सिंह की अध्यक्षता में वर्ष 2008 में 30 मार्च को की गई।

वही आज स्टेडियम जर्जर हालत में हैं। इसके जिर्णोद्धार के लिए प्रखंड प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन से मांग की गई है। वही स्टेडियम में प्रतिदिन आर्मी की तैयारी कर रहे लड़कों ने भी मीडिया के माध्यम से स्टेडियम में गेट, चापाकल और मरम्मत कार्य कराने की मांग की।