परीक्षा:मांझी इंटर काॅलेज में प्रायोगिक परीक्षा में रुपए की वसूली का वीडियो वायरल, जांच में हुई इसकी पुष्टि

छपरा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंटरमीडिएट के छात्रों की प्रायोगिक परीक्षा 10 जनवरी से होम सेंटर पर चल रही है

मांझी इंटर कॉलेज में चल रही सत्र 2020-22 की वार्षिक प्रायोगिक परीक्षा में परीक्षार्थियों से रुपये की अवैध वसूली करने का वीडियो वायरल होने के बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी के निर्देश पर मांझी बीईओ दिवाकर सिंह ने शुक्रवार को कालेज कैम्पस में पहुच कर जांच पड़ताल की। इस क्रम में वायरल वीडियो की शिकायत सत्य पायी गई। जिसकी रिपोर्ट बीईओ ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को भेज दी है। ज्ञात हो कि इंटरमीडिएट के छात्रों की प्रायोगिक परीक्षा 10 जनवरी से होम सेंटर पर चल रही है।

छात्रों से पांच सौ रुपए की अवैध उगाही की गई
इस दौरान आरोप लगाया गया है कि मांझी इंटर कालेज के प्राचार्य के निर्देश पर छात्रों से पांच सौ रुपये की अवैध उगाही की जा रही है। जिसके लेन- देन का एक वीडियो वायरल भी हुआ है। जिसमे कालेज के कुछ अवैध व रिटायर्ड कर्मी के द्वारा कोरोना काल मे अच्छे नम्बर दिलाने की बात कह कर रुपये की अवैध वसूली की जा रही है। यह शिकायत संज्ञान में आने के बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी ने जांच के लिए मांझी बीईओ को निर्देश दिया था। ताकि मामला स्पष्ट हो सके।

जांच के बाद होगी कार्रवाई: बीईओ
वीडियो वायरल मामले में जांच करने के बाद बीईओ दिवाकर सिंह ने बताया कि प्रायोगिक परीक्षा में कुछ छात्र-छात्राओं से रुपये लिए गए हैं और कुछ से लिए जा रहे थे। प्रायोगिक परीक्षा में अवैध वसूली की गई है। जिसका रिपोर्ट जिला शिक्षा पदाधिकारी को भेज दी गई है।

परीक्षार्थियों का आरोप
कालेज के कर्मियों के द्वारा प्रायोगिक परीक्षा में में पांच सौ रुपये लिए जा रहे हैं। विरोध करने पर प्रायोगिक परीक्षा में फेल करा देने की धमकी दी जा रही है।
कालेज के प्राचार्य
कालेज के प्राचार्य प्रो. सत्यप्रकाश प्रसाद का कहना है कि यह आरोप बेबुनियाद है। विरोधियों द्वारा जो वीडियो वायरल किया गया है वह सत्य नहीं है।

खबरें और भी हैं...