पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राथमिकी:रेल चक्का फैक्टरी में अफसर ने महिला कर्मी के साथ किया यौन शोषण, खिलाया जहर, बची जान

छपरा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महिला की 2009 में दरियापुर रेलवे फैक्टरी में नियुक्ति हुई थी, महिला आयोग में प्राथमिकी दर्ज

दरियापुर रेल चक्का फैक्ट्री में पूर्व में महिला कर्मी के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। इस मामले में महिला कर्मी उच्च पद पर पदस्थापित अफसर के खिलाफ महिला आयोग में प्राथमिकी दर्ज कराई है। उसके बाद बंगाल चितरंजन रेल इंजन फैक्ट्री कार्यालय के अंदर एक महिला कर्मी को जहर खिलाने के आरोपों को लेकर तरह तरह की चर्चा है। महिला कर्मी को केजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है। सोमवार दोपहर 12 बजे कार्यालय के लेडीज कॉमन रूम में उसे तीन लोगों ने पकड़ लिया और जहर खिला दिया। स्टाफ ने केजी अस्पताल में भर्ती कराया।

विरोध करने पर दुर्व्यवहार किया और फिर बनाया संबंध

पीड़िता के पिता जो चितरंजन रेलवे फैक्ट्री के कर्मचारी भी हैं। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी 2009 में बिहार में छपरा के बेला दरियापुर में एक रेलवे फैक्ट्री में नियुक्त हुई। लेकिन फैक्ट्री के एक उच्च पदस्थ कर्मचारी ने उनकी बेटी के साथ दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया। यहां तक कि वह उसका जबरन यौन शोषण भी करता रहा। लड़की ने जितना हो सके विरोध करने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हुई। क्योंकि वह व्यक्ति प्रभावशाली था। और उम्र में भी लड़की के पिता की तरह है। आखिरकार लड़की ने अपने पिता को सारी बातें बता दी। इसके बाद उन्होंने इसी साल 8 फरवरी को वहां के महिला थाने में शैलेश नाम के व्यक्ति के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई। जिसका एफआईआर नंबर 9/2021 है। उन्होंने मामले की सूचना राष्ट्रीय महिला आयोग को भी दी। अंततः महिला ने रेलवे बोर्ड से स्थानांतरित कर चिरेका में योगदान दिया। लेकिन उस शख्स ने यहां भी महिला का पीछा नहीं छोड़ा। और यहां भी उससे जबरन रिश्ता नहीं जोड़ने पर जान से मारने की कोशिश की। महिला के ठीक होने का इंतजार किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...