पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नवरात्र:योग महामाया की आंखें खुलीं, शंखनाद व घंटे से गूंज उठा दरबार, महाष्टमी आज

छपराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 25 को महानवमी और 26 अक्टूबर को विजयादशमी के साथ दुर्गा पूजा का विसर्जन

शरद नवरात्रि की सप्तमी तिथि प्रखंडों के पूजा स्थलों पर शुक्रवारीय ब्रह्म वेला सुगंधमय वातावरण,आचार्यो व व्रतियों के कंठ से निःसृत देवी के बीज मंत्र व श्लोकों के साथ ज्योंही योग महामाया की आंखें खुलीं, शंखनाद व घंटा, घरियाल की ध्वनियां गूंज उठीं, जयकारे व जय हो जगदंबे काली जय मइया खप्पड़ वाली कोरस आरती सहित मां सर्वेश्वरी के तमोगुण स्वरूप का दर्शन कर भक्त व श्रद्धालु कृत कृत हो उठे । बहरहाल, दिघवारा नगर पंचायत, अकिलपुर, बरूआं, मलखाचक, त्रिलोकचक, शीतलपुर, बस्तीजलाल, निजामचक, नयागांव, गोपालपुर, डुमरी बुजुर्ग, सोनपुर, पहलेजा, सबलपुर राहर दियारा, शिकारपुर, परसा, दरिहारा सरैयां, दरियापुर, डेरनी, सुतिहार, ककरहट, मकेर, भेल्दी, अमनौर, बसंत बाजार, बसंत ठाकुरबाड़ी बाजार, मिर्जापुर, प्रतापपुर, रामपुर, रहमपुर, गड़खा बाजार, मैकी, केवानी, जानकी बाजार में उत्सवी वातावरण व्याप्त हो गया। इस अवसर का लाभ उठाते हुए चुनावी दंगल में उतरे योद्धाओं में विनय, छोटेलाल, आदि दर्शन पूजन व जन सम्पर्क करते देखे गए।

अस्त्र शस्त्र पूजन संपन्न, अंबिका स्थान, आमी व कालरात्रि मंदिर, डुमरी बुजुर्ग,गढ़देवी, मढ़ौरा की निशा पूजा में भक्तों ने किया रात्रि जागरण
हवन, कन्या पूजन ब्राह्मण पूजन और भंडारा
युवा ब्राह्मण चेतना मंच के जिलाध्यक्ष आचार्य हरेराम शास्त्री ने बताया कि महाष्टमी की पूजा 24 अक्टूबर दिन शनिवार को होगा। इस दिन विस्तृत पूजा और भोग लगाएं। महानवमी 25 अक्टूबर दिन रविवार को सुबह से ही मनाया जाएगा। हवन यज्ञ ,कन्या पूजन ,बटुक पूजन ,ब्राह्मण पूजन और भंडारा आदि किया जाएगा। विजयादशमी के साथ दुर्गा विसर्जन 26 अक्टूबर दिन सोमवार को प्रातः काल करने का शुभ मुहूर्त मिल रहा है। मार्कण्डेय पुराण के अनुसार प्रातः आवाहयेत् देवी प्रातः कालेव विसर्जयेत्। देवी पूजन में यह भी विशेष महत्व रखता है कि या तिथि उदया भानू सा तिथि सकला भवेत् । यह निर्णय वाराणसी से प्रकाशित हृषिकेश पञ्चाङ्ग, विश्व पञ्चाङ्ग , श्री महावीर पञ्चाङ्ग , छपरा सारण के प्रकांड विद्वान श्रीनाथ प्रपन्नाचार्य जी द्वारा लिखित जगदम्बार चन पद्धति और धर्म सिंधु और निर्णय सिंधु जैसे ग्रन्थों से निर्णय किया गया है।

प्रखंडों में मां का पट खुलते ही भक्तों की उमड़ी भीड़
मशरक : मशरक प्रखंड क्षेत्र में मां शेरावाली दुर्गे माता का पट खुलते ही दर्शन व पूजा अर्चना के लिए भक्त श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। मशरक मुख्यालय बाजार स्थित मां सिद्धिदात्री मंदिर में मां का फोटो बैनर लगा है जहां दर्शन को भक्तो की भीड़ उमड़ पड़ी है। मंदिर के पुजेरी उपेंद्र तिवारी ने बताया कि श्रद्धा पूर्वक नवरात्रि उपासना करने से हर तरह की मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

गड़खा में कालरात्री की पूजा की गई
गड़खा में शारदीय नवरात्र के सातवें दिन देवी दुर्गा के सातवें स्वरूप देवी कालरात्रि की पूजा की गई। मण्डप में विल्व पत्र प्रवेशन एवं नैनोमिलन की रीति पूरी की गई। इसी के साथ बसन्त दुर्गा पूजा समिति ठाकुरबाड़ी बाजार बसन्त में स्थापित देवी की प्रतिमा का पट खुल गया एवं प्रतिमाओं की पूजा के लिए माता के द्वार खोल दिया गया। हालांकि इस दौरान भक्तों की भीड़ नहीं लगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें