पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कमी की भरपाई:प्रो. बबन सिंह प्रख्यात शिक्षाविद् थे, उनके जाने से समाज को क्षति पहुंची है- प्रो चंद्रशेखर द्विवेदी

दरियापुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्मृति सभा में दी गई श्रद्धांजलि, उनकी कमी की भरपाई करना मुश्किल होगा

प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत डेरनी बाजार स्थित ज्योति मार्केट में शिक्षाविद प्रो. बबन प्रसाद सिंह का बुद्धिजीवियों द्वारा स्मृति सभा का आयोजन कर श्रद्धांजलि अर्पित किया गया। विदित हो कि जिले के मशहूर प्रो. बबन प्रसाद सिंह का स्मृति रविवार के दिन प्रखंड के बुद्धिजीवियों द्वारा प्रो चंद्रशेखर द्विवेदी के अध्यक्षता में मनाया गया। जहां उनके द्वारा किए गए कार्यों पर प्रकाश डालते हुए एस्पो बिहार के उपाध्यक्ष डॉ के एन सिंह ने कहा कि प्रो श्री सिंह एक प्रख्यात शिक्षाविद थे। उनके मार्गदर्शन में उनके परिवार जन के साथ-साथ क्षेत्र के लोग बड़े बड़े पदों को सुशोभित कर उनका सम्मान बढ़ाने का काम किया है। जिससे पूरे सारण जिले का नाम देश के कोने कोने में रौशन किया है।

इन सब बातों को जानते हुए भी वे काफी सहनशील व मिलनसार थे। कभी उनमें अहंकार देखने को नही मिला। सदा जीवन व उत्तम विचार को अपने जीवन में अपनाते हुए। वे प्रजात शत्रु थे दुश्मन को भी अपने विचारों से प्रभावित कर मित्र बना लेने की कला उनमें थी। शिक्षा जगत में उनके कमी की भरपाई करना बहुत ही कठिन होगा। डॉ केएन सिंह भावुक होते ही कहा कि उनके अचानक स्वर्गवास से हमारे सच्चे हितैषी मित्र व गार्जियन खो दिया जो बहुत बड़ी क्षति है। अंत में उनको श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए फफक फफक कर रोने लगे। साथ ही उनके जेष्ठ पुत्र देश जाने माने पत्रकार श्री राणा यशवंत सिंह द्वारा प्रो बबन सिंह के विभाग के अच्छे अंक लाने वाले छात्र छात्राओं को 21-21 हजार रुपये प्रतिवर्ष पुरस्कार स्वरूप देने की घोषणा तथा व्यख्यान माला का आयोजन हर साल करने की घोषणा काफी सराहनीय है। वे अपने पुत्र धर्म का पालन कर रहे हैं जिसके लिए उनको कोटि-कोटि धन्यवाद।

दो मिनट के लिए रखा मौन

साथ ही 2 मिनट का मौन रखते हुए सभी ने श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके आत्मा की शांति के लिए विश्वर से प्रार्थना करते हुए उनके परिजनों को इस दुःख भरी समय में सहने की शक्ति का कामना की। श्रद्धांजलि अर्पित सभा में शामिल बुद्धिजीवियों में डॉ. महात्मा प्रसाद गुप्ता, शिक्षक अमित कुमार, लक्ष्मण सिंह, अवकाश प्राप्त सब इंस्पेक्टर गिरजेश्वर राय,राजकिशोरी राय,छबीला सिंह, जमालुद्दीन, बीरेंद्र प्रसाद आदि प्रबुद्ध लोग शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...