निजी प्रैक्टिस शुरू:चिकित्सक का शव पहुंचने पर लोगों ने जताया शोक, अंतिम दर्शन को लगी भीड़

दाउदनगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिल्ली में डॉ. परवेज की तबीयत हुई थी खराब, इलाज के दौरान हो गई मौत

दाउदनगर के विख्यात सर्जन दिवंगत चिकित्सक डॉ. परवेज अख्तर का स्थानीय लोगों ने उनके दाउदनगर स्थित आवास पर पहुंचकर अंतिम दर्शन किया। डॉ. परवेज अख्तर का निधन दिल्ली में इलाज के दौरान हो गया था। वे मूल रूप से भागलपुर के रहने वाले थे और करीब दो दशक से भी अधिक समय से दाउदनगर में चिकित्सा के क्षेत्र में अपनी सेवा दे रहे थे।

वे प्रख्यात सर्जन थे। बताया जाता है कि पढ़ाई पूरी करने के बाद करीब दो दशक पहले उनकी पहली पोस्टिंग दाउदनगर अनुमंडल के गोह प्रखंड के देवहरा में हुई थी। उसके बाद बीच में नौकरी छोड़कर उन्होंने अपना निजी प्रैक्टिस शुरू कर दिया।बीच में कुछ दिनों के लिए दाउदनगर पीएचसी में अनुबंध पर बहाल हुए। फिर उन्होंने नौकरी छोड़ दिया। दाउदनगर के मेन रोड स्थित पूर्व विधायक सत्यनारायण सिंह के मकान में उनका आवास है और उसी में प्रैक्टिस किया करते थे। उनकी गिनती जिले के गिने-चुने सर्जन में होती रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, कुछ दिन पहले वे दिल्ली गये थे और वहीं अचानक उनकी तबीयत खराब हो गयी और इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। वे अपने पीछे पत्नी के अलावा एक पुत्र और एक पुत्री समेत भरा- पूरा परिवार छोड़ गये हैं।

उनके पार्थिव शरीर को दिल्ली से भागलपुर ले जाने क्रम में सोमवार की शाम दाउदनगर स्थित आवास पर लाया गया।जहां स्थानीय लोगों द्वारा अंतिम दर्शन किया गया।इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को उनके पैतृक निवास स्थल भागलपुर के ग्राम मोमीन टोला पुरैनी ले जाया गया है,जहां सुपुर्दे खाक किया जायेगा।डॉ. रविचंद्र ,डॉ. वसीम रजा, समाजसेवी मो. वली उल्लाह अंसारी, डॉ. फजलुर्रहमान, जहांगीर आलम, हाफिज खुर्शीद आलम समेत अन्य लोगों ने उनका अंतिम दर्शन किया।उनके निधन पर गहरा गहरा दुख जताते हुये कहा कि वे विख्यात सर्जन थे।जो गरीबों की सेवा के लिये भी हमेशा तत्पर रहते थे।

खबरें और भी हैं...