पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चर्चा:नारायण स्कूल ऑफ लाॅ में आयोजित वेबिनार में कानूनी मसलों पर हुई चर्चा

डेहरी सदर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कई मुद्दों के सांवैधानिक एवं वैधानिक पहलुओं पर प्रकाश डाला गया

स्थानीय गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित नारायण स्कूल ऑफ लॉ के तत्वाधान में बुधवार को वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार के मुख्य वक्ता इंडियन लॉ इंस्टीट्यूट नई दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर डॉ मनोज कुमार सिन्हा थे। उन्होंने संवैधानिक न्यायालयों द्वारा आवश्यक धार्मिक अभ्यास, सिद्धांत और धार्मिक अभिनिर्णय विषय पर अपना मंतव्य रखा। वेबिनार की शुरुआत गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर एम एल वर्मा ने स्वागत भाषण से किया। इसके बाद नारायण स्कूल ऑफ लॉ के निदेशक प्रो डॉ राकेश वर्मा ने मुख्य वक्ता का विस्तृत परिचय देते हुए विषय प्रवेश किया। वेबिनार के मुख्य वक्ता श्री सिन्हा ने अपने वक्तव्य में शिरूर मठ, मोहम्मद हनीफ कुरेशी बनाम बिहार राज्य गौ हत्यावाद, आनंद मार्ग वाद, सबरीमाला मंदिर वाद, सायरा बानो बनाम भारत संघ, सुनीता तिवारी बनाम भारत संघ इत्यादि की विवेचना की और संविधान निर्माण से लेकर अब तक के इसके सभी संवैधानिक और वैधानिक पहलुओं पर प्रकाश डाला और महत्वपूर्ण सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि जायज सामाजिक हित और इसके अनुपातिक पहलू हमारे धार्मिक हितों का सीमांकन करने में एक कसौटी के रूप में कार्य करेंगे।उन्होंने कहा कि न्यायिक नीति विकसित करने के उद्देश्य से ठोस और संपूर्ण न्याय के लिए अब इस विषय पर समग्रता से देखने का समय आ गया है। कार्यक्रम का संचालन नारायण स्कूल ऑफ लाॅ के सहायक प्राध्यापक देवेश कुमार ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन सहायक प्राध्यापक डॉ संगीता कुमारी ने किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने सक्रिय रूप से भाग लिया। छात्र-छात्राओं ने मुख्य वक्ता से प्रश्न भी पूछे।

खबरें और भी हैं...