शराब कांड़:विधायक की गाड़ी से शराब बरामदगी में नया मोड़, बाॅडीगार्ड नहीं किसी तीसरे व्यक्ति ने किया था फोन

डुमरांव3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सदर विधायक संजय कुमार तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी के वाहन से विदेशी शराब की बोतले बरामद होने के मामले  में नया मोड़ आ गया है। पुलिस के अबतक के जांच में यह बात सामने आई है कि चालक को फोन विधायक के बाडीगार्ड अभिमन्यु तिवारी के बदले किसी राहुल ओझा नाम के व्यक्ति ने की थी। राहुल ओझा ही अभिमन्यु तिवारी बन चालक सुशील कुमार प्रसाद के मोबाइल पर 13 मई को फोन कर बताया था कि बड़का गांव स्थित कोईलवर तटबंध के पास एक व्यक्ति सामान देगा उसे लेकर बक्सर आना है।

चालक उसे विधायक का बाडीगार्ड समझ उसके निर्देश पर बताए सामान को ले गाड़ी में रख लिया था तथा जैसे ही वहां से आगे बढ़ा कि पुलिस आ गई तथा गाड़ी की तलाशी लेकर शराब बरामद करते हुए वाहन को जब्त कर लिया था तथा उसमें बैठे लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था।
सीडीआर खंगालने के बाद मिली जानकारी
इस हाई प्रोफाइल मामले की जांच कर रही पुलिस ने जब चालक के नंबर का सीडीआर खंगाला तो पता चला कि चालक के मोबाइल पर 9430023807 नंबर से फोन आया था तथा सामान को वाहन में रखने का निर्देश मिला था। चालक उसे विधायक का बाॅडीगार्ड समझ उसके बताए निर्देश का पालन करने की गलती कर बैठा। पुलिस की मानें तो राहुल ओझा ब्रह्मपुर थाने के निमेज गांव का रहने वाला है तथा वह पहले से ही कुख्यात है। उसपर हत्या का मुकदमा भी दर्ज है तथा वह फरार चल रहा है। सीडीआर मिलने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के लिए निमेज में छापेमारी भी की है। लेकिन वह फरार हो गया है।
विधायक को फंसाने की साजिश तो नहीं! 
सदर विधायक के वाहन से शराब का बरामद होना तत्काल जिले भर में सुर्खियों में आ गया था। पुलिस ने विधायक समेत सात लोगों पर एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वैसे सूत्रों की मानें तो जिस तरीके से विधायक के गाड़ी में फर्जी फाेन के आधार पर पहले शराब पहुंचाया गया तथा तुरंत उसकी सूचना पुलिस को भी मिल गई। इससे साफ जाहिर होता है कि इस मामले में गहरी साजिश की गई है। पुलिस की शुरूआती जांच में जो रिपोर्ट आए है वह भी इसी बात की ओर इशारा कर रहे है।

फिलवक्त पुलिस को इंतजार है राहुल ओझा के गिरफ्तारी का। उसके गिरफ्तार होने के बाद ही इस मामले से पर्दा उठेगा। इस संबंध में एसडीपीओ केके सिंह ने कहा कि जिस नम्बर से विधायक के ड्राईवर को फोन गया था 9430023807 जिसमें अभिमन्यु तिवारी के नाम से कन्टैक्ट में सेव था। वह नम्बर का जब जांच किया तो सीडीआर के आधार पर राहुल ओझा का नंबर सामने आया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए रविवार को निमेज में छापेमारी की गई थी परन्तु वह नही मिला।

खबरें और भी हैं...