पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाय रे मंहगाई:खाद्य तेल के बाद आलू व प्याज के मूल्य में वृद्धि

डुमरांव19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले से ही गृहणियों को बढ़ती महंगाई से थी परेशानी, अब किचन का बजट और बिगड़ा

जरूरी सामान और खाद्य पदार्थों के अलावा सभी हरी सब्जियों की कीमत में लगातार बढ़ोतरी होने के कारण इन दिनों गरीब एवं मध्यम वर्गीय लोगों की थाली से सब्जी गायब होने लगी है। वही आलू और प्याज से बनने वाले चोखे पर भी अब कयामत आने लगा है। लगातार बारिश की वजह से स्थानीय स्तर पर उपज की जाने वाली हरी सब्जी की खेती भी प्रभावित हो रही है। जिसके कारण सब्जियों की कीमत आसमान छूते जा रहा है। मौजूदा समय में 40 से 50 रुपया के नीचे एक भी सब्जी नहीं है। जिसके कारण लोग आलू की भुजिया और चोखा से काम चला रहे थे। लेकिन अब आलू और प्याज की कीमत में भी लगातार बढ़ोतरी होने की वजह से लोग को आलू मिलना भी दुर्लभ हो गया है। सरसों तेल डिफाइन की कीमतों में भी बढ़ोतरी होने से लोगों को काफी दिक्कत हो रहा है।

हरी सब्जियों पर भी आफत| 15 दिनों में दोगुनी हुई सब्जियों की कीमत
20-25 दिन पहले 10 रुपया किलो बिकने वाला बैगन मौजूदा समय में 40 से 50 रुपया किलो भिंडी 10 की जगह 40 रुपया किलो 20 की जगह 50 से 60 रुपए किलो बोरो 10 की जगह 30 से 40 रुपया किलो नेनुआ 10 से 12 रुपया प्रति किलो की जगह 30 से 40 रुपया किलो कच्चा केला 15 से 20 की जगह 40 रुपया किलो कद्दू इसी तरह से 50 रुपया पसेरी बिकने वाला आलू इन दिनों 70 से ₹80 पसेरी और प्याज ₹30 प्रतिकिलो की दर से स्थानीय बाजार में बेचा जा रहा है। जिससे गरीब और मध्यमवर्गीय लोगों की थाली से पहले तो हरी सब्जियां गायब होने लगी है। बताते चलें कि इसी तरह से जरूरी सामानों में सरसों तेल और रिफाइन महंगा हो रहा है।

रसोई गैस की कीमत से पहले ही आर्थिक संकट
सरसों तेल जिस कम्पनी के पहले 110 से लेकर 115 रुपया प्रति लीटर मिल जाते थे। वहीं सरसों तेल वर्तमान समय में 185 से 200 रुपया प्रति लीटर मिल रहे हैं। यही हाल इस समय रिफाइन और डालडा का भी है। हालांकि सरकार ने तो उज्जवला योजना के तहत गरीबों के घरों में रसोई गैस तो पहुंचा दी लेकिन जिस तरह से रसोई गैस की कीमत में बढ़ोतरी की जा रही है। उससे अब एक बार फिर से लोग अपनी पुरानी विधि से लकड़ी कोयला और गोयठा इत्यादि से अपने घरों में खाना बनाना शुरु कर दिए हैं। इस बढ़ती महंगाई को लेकर गृहणियां सरकार को कोस रही है।

खबरें और भी हैं...