दुर्गोत्सव की धूम:मां दुर्गा और अन्य देवी-देवताओं के दर्शन के लिए मंदिर सहित पंडालों में बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालु

डुमरांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • देवी दर्शन को मंदिरों में उमड़ी भीड़, चौकस रही सुरक्षा व्यवस्था, रंग-बिरंगी रोशनी से सजे बाजार
  • दशहरे में शहर से लेकर गांव तक आस्था का माहौल बना, खाने-पीने की दुकानों से बाजार हुए गुलजार

दशहरे में शहर से लेकर गांव तक आस्था का माहौल बन गया है। मेले के दूसरे दिन बुधवार को देवी मंदिरों, पूजा पंडालों में भक्तों की भीड़ उमड़ी। भोर से ही पूजन-अर्चन के लिए भक्त मंदिरों व पूजा पंडालों में पहुंचने लगे। इस दौरान मां के जयकारों व घंट घड़ियाल की ध्वनि से मंदिर व पूजा पंडाल गूंजते रहे।

शाम को आरती के बाद मां के भक्तों ने प्रसाद वितरण किया। पूजा पंडालों व मंदिरों में महिला, पुरुष पूजन-अर्चन के लिए पहुंचने लगे। देवी की पूजा, दुर्गा सप्तशती पाठ, दुर्गा चालीसा का पाठ दिनभर होता रहा। डुमरांव नगरपंचित काली मंदिर स्थित दुर्गा मंदिर में पूजन-अर्चन करने के लिए कन्याओं के अलावा महिला-पुरुष व किशोर की खासी भीड़ लगी रही।

शाम को आरती के बाद गंवई कलाकारों में मां अम्बे के गीतों से पूरे माहौल को भक्ति के रंग से सराबोर कर दिया। इस दौरान दर्शकों ने मां अम्बे के गीतों पर ताली बजाकर गायक कलाकारों का खूब साथ दिया। कुछ पूजा पंडालों में ढोल और मंजीरे की गूंज देर रात तक सुनाई देती रही।

पूजा पंडाल के आस-पास के घरों की महिलाएं आरती के बाद एकत्रित होकर देवी के गीतों में लीन नजर आईं। भक्ति पर्व को लेकर सबसे अधिक उत्साह छोटे-छोटे बच्चों में देखने को मिला। वह घरों से निकलकर गांव व कस्बों में बने पूजा पंडालों की सजावट का लुफ्त देर रात तक उठाते रहे।

एसडीओ-एसडीपीओ ने लिया सुरक्षा व्यवस्था का जायजा :
शहरा मेला में विधि व्यवस्था को लेकर बुधवार को एसडीओ कुमार पंकज व एसडीपीओ श्री राज सहित अन्य अधिकारियों ने शहर के पूजा पंडालों सहित अन्य जगहों का जायजा लिया। इस दौरान अधिकारियों ने ड्यूटि पर तैनात मजिस्ट्रेटो व पुलिस बल के जवानों को कई दिशा निर्देश भी दिए। श्रद्धालुओं की सुविधा व शरारती तत्वों की निगरानी को लेकर शहर के मुख्य मार्ग राज अस्पताल, स्टेट बैंक चबुतरा और राजगढ़ चौक पर वाच टावर बनाए गए है। इस टावर पर तीसरी आंखों से शरारती तत्वों की निगरानी की जा रही है। इसके अलावे शहर के मुख्य आठ जगहों पर मजिस्ट्रेट सहित पुलिस बल के जवान तैनात किए गए है। जो पूजा पंडालों, सहित टैªफिक व्यवस्था की देखरेख कर रहे है।

बड़े वाहनों को शहर के बाहर रोका गया
शहर में श्रद्धालुओं की सुविधा को लेकर अनुमंडल प्रशासन ने बड़े वाहनों के प्रवेश पर आगामी पांच अक्टूबर तक रोक लगा दी है। इसकों लेकर महरौरा रोड, टेढ़की पुल व छठिया पोखरा के समीप बैरेकेटिंग की व्यवस्था की गई है। अनुमंडल प्रशासन ने शहर के गोला रोड व चौक रोड आदि में शाम चार बजे रात्रि ग्यारह बजे तक छोटे वाहनों के प्रवेश पर भी रोक लगाई है। जिसकी निगरानी को लेकर जगह जगह पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई है।
पर्व के दौरान स्टेशन पर बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था
दुर्गा पूजा को देखते हुए रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सुरक्षा को लेकर रेल पुलिस लगातार गश्त कर रहे है। क्योकि, दुर्गा पूजा घूमने श्रद्धालु ट्रेन से भी आते है।श्रद्धालुओ को कोई परेशानी नहीं इसको लेकर पुलिस जांच अभियान भी चला रही है। जीआरपी थाना प्रभारी रामाशीष प्रसाद ने बताया कि पर्व के मद्देनजर रखते हुए रेल एसपी और स्थानीय पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर यात्रियों की सुरक्षा बढ़ी है।

आज बढ़ेगी भीड़, अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की जाएगी
एसडीओ कुमार पंकज व एसडीपीओ श्री राज ने कहा कि मेले में स्थानीय लोगों व कमिटी के सदस्यों का काफी सहयोग मिल रहा है। जिसके कारण दुसरे दिन भी शांती पूर्ण ढंग से मेले निपट गया। सोमवार को भीड़ बढ़ने की शंका है। जिसको लेकर अतिरिक्त पुलिस बल मंगाए गये है।

किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार है प्रशासन
दशहरा मेला को शांतिपूर्ण निपटाने के लिए संकल्पित अनुमंडल प्रशासन ने किसी भी अपात व अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए तैयारी पूरी कर रखी है। एहतियात के तौर पर पुलिस द्वारा एंबुलेंस व फायर बिग्रेड को तैनात किया गया है। वही डाक्टरों की टीम भी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हर समय तत्पर है।

दशहरा मेला पर है पुलिस की बारीक नजर- एसडीएम/एसडीपीओ
एसडीएम कुमार पंकज व एसडीपीओ श्री राज ने बताया कि दशहरा मेला पर पुलिस प्रशासन की पैनी नजर है। सभी पंडालों के बाहर व प्रमुख जगहों पर पुलिस के जवान तैनात किए गए है। सादे लिबास में भी जवान शरारती तत्वों पर नजर बनाए हुए है। एसडीएम-एसडीपीओ ने लोगों को भयमुक्त हो दशहरा मेला का लुफ्त उठाने की अपील की है। वही प्रशासन ने उपद्रवी तत्वों को सख्त हिदायत भी दी है कि शरारत करने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं...