पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दीदी की रसोई:अस्पताल में संचालित होगा दीदी की रसोई

डुमरांव13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अनुमण्डल अस्पताल में सिविल सर्जन डाॅ. जितेन्द्र नाथ ने निर्देश पर दीदी की रसोई घर एवं कैंटीन का नए जगह पर निर्माण स्वास्थ्य विभाग के अनुरक्षण एवं मरम्मत मद की राशि से कराया जाएगा। हालांकि अनावश्यक रूप से खर्च कर दिए गए तीन लाख की राशि के सवाल पर संबधित अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है। सिविल सर्जन द्वारा राशि उपलब्ध कराए जाने का आदेश पाने के बाद जीविका के डीपीओ अरुण कुमार एवं लेखापाल संजय कुमार के साथ अस्पताल के प्रभारी डीएस डाॅ. गिरीश कुमार सिंह ने रसोई घर एवं कैंटीन निर्माण के लिए चिह्नित नए स्थान का मुआयना किया।

जानकारी हो कि करीब एक साल से अनुमण्डल अस्पताल में रोगियों के बीच जलपान एवं भोजन की आपूर्ति सेवा बंद है। निरीक्षण के दौरान आए डीएम अमन समीर एवं एसडीएम हरेन्द्र राम ने इस पर संज्ञान लेते हुए तत्कालीन डीएस डॉ अनिल भट्ट को रोगियों के बीच जलपान एवं भोजन आपूर्ति व्यवस्था कराए जाने का निर्देश दिए थे। हालांकि डीएम द्वारा अस्पताल में रोगियों के बीच जलपान एवं भोजन आपूर्ति व्यवस्था बंद रहने के बारे में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव का आदेश से अवगत कराया गया। उसके बाद अस्पताल प्रबंधन द्वारा अस्पताल की आपातकालीन सेवा कक्ष के पास रसोई घर एवं कैंटीन निर्माण का कार्य शुरू किया गया।

जिसमें तीन लाख की राशि खर्च करने के बाद भी स्थान को बदल दिया गया। प्रश्न यह उठता है कि अस्थाई किचेन में तीन लाख की राशि को क्यो खर्च किया गया। जबकि ने सिरे से दूसरे स्थान पर रसोई घर एवं कैंटीन का निर्माण कराने के लिए ग्रामीण विकास विभाग के कनीय अभियंता से प्राक्कलन तैयार कराया गया। जिसमे सिविल सर्जन से छह लाभ की राशि का मांग किया गया है।

खबरें और भी हैं...