पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्र में भक्तों की अटूट आस्था:सोशल डिस्टेंस के साथ करें मां भगवती के मंदिरों में दर्शन-पूजन, बिना मास्क के नहीं मिलेगी इंट्री

डुमरांव7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डुमरांव नगर काली पंचित मंदिर में उमड़ा है भक्तों का उमड़ता है जन सैलाब
  • जंगलों के बीचों-बीच था मां का मंदिर भोजपुरी गायकों का शूटिंग का केन्द्र है मां का मंदिर

नवरात्र के पावन दिन में नगर या गांव के सभी मंदिरों में विशेष आस्था का सैलाब उमड़ता है। हालांकि इस बार भक्तों के साथ मंदिर प्रबंधन को विशेष ध्यान देना होगा। परन्तु इस बार कोरोना काल में भक्तों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मां भगवती की दर्शन करना होगा। वहीं प्रतिवर्ष नवरात्रि के दौरान डुमरांव नगर पंचित काली मंदिर में यहां भक्तों की भीड़ होती ही है।

अन्य दिनों में यहां भक्त अपनी आस्था के साथ आते हैं और माता रानी के दरबार में अपनी श्रद्धा को अर्पित करते हैं। इस मंदिर प्रांगण में मां काली के अलावे नौ दुर्गा, भगवान महाबीर की प्रतिमा स्थापना की गई है। जानकारों की मानें तो काली मंदिर और इसका इतिहास बहुत पुराना है। कहा जाता है कि पूर्व में इसे पासी समाज के द्वारा इसे स्थापित किया गया है। इस मंदिर पर उनका आधिपत्य हुआ करता था। सावन सप्तमी के दिन पहला चढ़ावा के लिए कई तरह की बातें सामने आया करती थीं।

यहां सुबह से देर रात तक भक्तों की भीड़ लगी रहती
मंदिर से जुड़े लोगों कि मानें तो मंदिरों के शहर डुमरांव में चेरो-खरवारों के काल में काली आश्रम में शिव मंदिर अपनी भव्यता व प्राचीनता के कारण शिवभक्तों के बीच आकर्षण का केन्द्र बना हुआ था। सावन के पावन महीने में यहां सुबह से देर रात तक भक्तों की भीड़ लगी रहती है। नगर पंचित मां काली आश्रम के संबंध में बताया जाता है कि चेरो-खरवार नामक जातियों शासन के समय ही यहां शिवलिंग स्थापित कर पूजा-पाठ किया जाता था। शहर के विकास के साथ ही भगवान शिव का भव्य मंदिर भी बनाया गया।
जंगल के बीचों-बीच था मां कि मंदिर
मगर जब से इस काली आश्रम की स्थापना हुई है भक्त यहां बड़े पैमाने पर आते हैं। यह इलाका वर्ष 1960 तक घनघोर जंगल से घिरा हुआ करता था। इसलिए काली आश्रम में लोगों को कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था। मगर आज की तारीख में यह इलाका शहर का सबसे वीआईपी इलाकों में शामिल हो गया है। इस मंदिर में 24 घंटे आने जाने में कोई परेशानी नहीं होती है। पिछले दो दशकों से मां के मंदिर भक्तों की आस्था बढ़ती गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें