पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:2.25 लाख खर्च के बाद भी सूखे पौधे, मुंह चिढ़ा रहा प्राक्कलन बोर्ड

डुमरांव9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिर्फ प्राक्कलन बोर्ड से ही मनरेगा का चल रहा है पता, पौधे व चापानल नदारद

प्रखंड के अरियांव पंचायत में मनरेगा योजना के नाम पर भारी पैमाने पर लूट-खसोट का मामला सामने आया है। यह लूट खसोट अरियांव के उर्मिला देवी के निजी जमीन पर मनरेगा के तहत पौधरोपण दिखा की गई है। योजना का जमीनी हकीकत है कि मनरेगा के तहत पौधरोपण का प्राक्कलन बोर्ड व जमीन की घेराबंदी तो सलामत है लेकिन उसमें पौधे गायब हो गए है।

उक्त जमीन पर पौधों की सिंचाई के लिए कही चापानल भी नहीं लगाया गया है। जबकि कुल 495 मानव दिवस व 154 दैनिक मजदूरी दिखा कुल 2 लाख 17 हजार 460 रुपये की निकासी भी कर ली गई है। प्राक्कलन बोर्ड पर योजना संख्या 12/22020 व पीआरएस का नाम आफताब आलम अंकित है।

स्पष्ट है कि इस योजना का क्रियान्वयन भी पिछले साल ही किया गया है। लेकिन एक साल के अंदर ही सभी पौधे गायब हो गए है। जबकि नियमों के मुताबिक पौधों की देखभाल के लिए चापानल व वनपाल की नियुक्ति करना है। इसके अलावे संबंधित पीआरएस व विभाग को भी पौधरोपण की समय-समय पर देखभाल करते रहना है और इसकी प्रगति रिपोर्ट भी विभाग को सौंपनी है।

यही नहीं बल्कि सूखे पौधों की जगह नया पौधा लगाने का भी नियम है। लेकिन अरियांव में उर्मिला देवी के निजी जमीन पर न तो चापानल ही लगाया गया है और न ही सूखे पौधे के जगह नया पौधा लगाया गया है। जिससे साफ होता है कि यहां सिर्फ योजना के नाम पर लूट खसोट की गई है। यदि विभाग द्वारा ठीक ढंग से पौधों की देखभाल की गई होती तो सभी पौधे सूख नहीं गए होते।
जल जीवन हरियाली योजना की सफलता पर गहराया संकट
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को स्वच्छ व सुंदर बनाने के साथ ही पर्यावरण संरक्षण के लिए जल जीवन हरियाली योजना शुरू किया था। लेकिन स्थानीय स्तर पर अधिकारियों व कर्मियों की मिलीभगत से राज्य सरकार की इस महत्वपूर्ण योजना के सफलता पर प्रश्न चिन्ह लग गया है।
घेराबंदी के बीच उगाया गया है फसल
जिस जमीन पर मनरेगा योजना के तहत घेराबंदी कर प्राक्कलन बोर्ड लगाया गया है उस जमीन पर पौधे की जगह खेती की गई है। दूर-दूर तक न तो चापानल दिखाई पड़ा और न ही वनपाल का ही पता चल सका। ग्रामीण सूत्रों की मानें तो लगाने के साथ ही पौधे सूख गए थे। ग्रामीणों का कहना है कि इस पंचायत में मनरेगा योजना का क्रियान्वयन भी जानबूझकर ऐसे जगहों पर ही किया गया है जहां पौधे सुरक्षित नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत में कई अन्य जगहों पर भी मनरेगा योजना का यही हश्र है।
मामले की जांच कर होगी दोषियों पर होगी कार्रवाई
इस संबंध में उप विकास आयुक्त डाॅ. योगेश कुमार सागर ने कहा कि इस मामले की जांच कराई जाएगी तथा दोषियों पर कार्रवाई के साथ ही फिर से पौधे लगवाए जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser