पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पड़ताल:डुमरांव के बंझू डेरा व नोनिया डेरा के खेतों व बगीचों में हो रही है देसी शराब की खेती

डुमरांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व में दोनों गांवों में पुलिस कई बार ध्वस्त कर चुकी हैं भट्ठियां, बरामद हो चुकी है भारी मात्रा में शराब
  • डुमरांव थाने से महज तीन किलोमीटर दूर है बंझू डेरा व नोनियाडेरा

बिहार में शराबबंदी कानून का माखौल बन गया है। शराब तस्कर व पुलिस के बीच लंबे समय से चूहे-बिल्ली का खेल जारी है। बावजूद क्षेत्र में न तो शराब का निर्माण रुक रहा है और न ही तस्करी। हालांकि पुलिस ने दर्जनों जगहों पर अवैध शराब निर्माण का भंडाफोड़ करते हुए भट्ठियों को ध्वस्त करने तथा अर्द्धनिर्मित शराब को विनष्ट कर तस्करों को बड़ा झटका जरूर दिया है।

पुलिस हर बार यह दावा करती है कि क्षेत्र में शराब की तस्करी नहीं हो रही है। वरीय अधिकारी भी थानेदारों पर कार्रवाई की चेतावनी देते हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं होती। लिहाजा तस्करों का नेटवर्क पूरी तरह से ध्वस्त नहीं हो पाता है। क्षेत्र में तस्करों द्वारा जगह बदल कर आज भी धड़ल्ले से देसी शराब का निर्माण किया जा रहा है। दैनिक भास्कर के पास अवैध तरीके से देसी शराब निर्माण की एक्सक्लूसिव तस्वीरे हैं। तस्करों ने खेतों में ड्रम रखे हैं। जिनमें शराब का भंडारण किया गया है।
बंझू डेरा व नोनिया डेरा में बन रही है देसी शराब
जानकारों की मानें तो डुमरांव थाना से महज तीन किलोमीटर दूर बंझू डेरा व नोनिया डेरा में दसी शराब बनायी जा रही है। तस्करों द्वारा पुलिस को धोखा देने के लिए शराब निर्माण ऐसे जगह पर किया जा रहा है जहां सघन जंगल व झाड़ीदार पौधे है। जिस जगह पर शराब का निर्माण हो रहा है उसके चारों तरफ जलजमाव है तथा बीच में तस्करों द्वारा शराब निर्माण किया जा रहा है।

वहां शराब निर्माण के उपकरणों के साथ ही निर्मित व अर्द्धनिर्मित शराब को रखने के लिए कई गैलन भी रखे गए हैं। तस्करों द्वारा जानबूझकर उस जगह का चयन भट्ठी निर्माण के लिए किया गया है ताकि कोई आसानी से न पहुंच पाए। दैनिक भास्कर को बड़ी मशक्कत केे बाद उस जगह की तस्वीरें मिल पाई है। तस्वीरें शराबबंदी के दावों की पोल खोल रही है।
शर्मनाक: शराब तस्करी में पहले से चर्चित रहा है बंझू डेरा व नोनिया डेरा गांव
डुमरांव थाना क्षेत्र में बंझू डेरा व नोनिया डेरा गांव शराब तस्करी के लिए कुख्यात रहा है। बंझू डेरा में तो शराब निर्माण की चर्चा दशकों पुरानी है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक दशक पूर्व इस गांव में अवैध तरीके से शराब निर्माण होने की गूंज विधानसभा तक सुनाई दी थी। जबकि नोनियां डेरा में भी दर्जनों बार भट्ठिया व शराब बरामद हो चुका है।

संकल्प के बाद भी नहीं हुआ सुधार

नोनिया डेरा व बंझू डेरा गांव में अवैध शराब निर्माण को रोकने के लिए पुलिस ने हर हथकंडा अपना लिया है। पूर्व में छापेमारी व तस्करों तथा शराब निर्माताओं को गिरफ्तार कर जेल भेजने के साथ ही पुलिस नेे रचनात्मक तरीके से भी दोनों गांवों में शराब निर्माण व तस्करी रोकने के लिए कई उपाय किए थे।

इसी कड़ी में तत्कालीन थानाध्यक्ष संतोष कुमार द्वारा दोनों गांव के युवाओं के साथ बैठक कर शराब निर्माण को रोकने के लिए आगे आने को पे्ररित किया था। वही उन्हाेंने ग्रामीणों को शराब निर्माण व तस्करी के साथ ही भविष्य में शराब नहीं पीने का संकल्प भी दिलवाया था। लेकिन कुछ दिन बाद ही ग्रामीण इस संकल्प को भूल फिर से शराब निर्माण व तस्करी में लग गए है। ​
पुलिस पर भारी पड़ रहा तस्करों का नेटवर्क
सूत्रों की मानें तो पुलिस के तंत्र पर तस्करों का नेटवर्क भारी पड़ रहा है। जिस कारण तस्कर अक्सर पुलिस को चकमा दे अपने उदेश्य में सफल हो रहे है। कभी कभार पकड़े जाने के बाद वे सिर्फ भट्‌टी की जगह बदल फिर से शराब निर्माण करने लगते है। जबकि उनके नए अड्डे तक पहुंचने में पुलिस के बहुत लंबा समय लग जा रहा है।
लगातार की जा रही छापेमारी
शराब तस्करी व निर्माण को रोकने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। उन्होंने कहा कि नोनिया डेरा व बंझू डेरा में शराब निर्माण होेने की जांच करा कठोर कार्रवाई की जाएगी। -केके सिंह, एसडीपीओ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें