हादसा:इलाज के दौरान घायल युवक की मौत, मुआवजे के लिए ग्रामीणों ने किया जाम

डुमरांव6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीओ की मौजूदगी में पीड़ित परिवार को चेक देते डुमरांव विधायक अजीत कुशवाहा। - Dainik Bhaskar
सीओ की मौजूदगी में पीड़ित परिवार को चेक देते डुमरांव विधायक अजीत कुशवाहा।
  • पांच दिन पहले नवाडेरा के पास सड़क दुर्घटना में मौके पर हुई थी एक युवक की मौत, एक था घायल
  • मुआवजा देने के बाद सड़क से ग्रामीणों ने हटाया जाम

पांच दिन पहले फोरलेन पर नवाडेरा के पास सड़क हादसे में जख्मी प्रताप सागर के जगनारायण यादव उम्र 37 साल इलाज के दौरान मौत हो गई है। उसका इलाज वाराणसी स्थित बीएचयू के ट्रामा सेंटर में चल रहा था।जहां उसने गुरुवार को अगले सुबह 3 बजे अंतिम सांस ली। गुरुवार को हिसुआ से उसका शव पैतृक गांव प्रताप सागर लाया गया। शव आते ही ग्रामीणों ने फोरलेन को जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। स्थानीय निवासी सह परिवर्तन एक पहल के जिला अध्यक्ष कृष्णा शर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों ग्रामीण सड़क पर उतर पीड़ित परिवार को आपदा प्रबंधन के तहत मुआवजा देने और दुर्घटना के जिम्मेवार पीएनसी कंपनी पर कार्रवाई करने की मांग करने लगे। ग्रामीणों का कहना था, कि फोरलेन निर्माण में लगे पीएनसी कंपनी के डंपर चालक की लापरवाही से हैं यह दुर्घटना हुई थी। सड़क जाम का नेतृत्व कर रहे कृष्णा शर्मा ने कहा कि कंपनी के भारी वाहनों के लापरवाही से आए दिन निर्माणाधीन फोरलेन पर दुर्घटनाएं हो रही है। कहा कि प्रशासन द्वारा इस कंपनी पर कार्रवाई नहीं किए जाने से भारी वाहन चालक नियमों का मखौल उड़ा रहे हैं।

मौत से परिवार को टूटा दुखों का पहाड़ : ग्रामीणों की माने तो जगनारायण अपने परिवार का इकलौता पालनहार था। वह स्वर्गीय शिवलाल यादव का इकलौता पुत्र था। जगनारायण ही अपने मां के साथ पत्नी और दो बच्चों का पालन पोषण कर रहा था। उसकी मां राधिका पैर और आंख से दिव्यांग है। उसकी मौत की खबर मिलने के बाद से ही पत्नी अंगीता देवी और बूढ़ी मां राधिका की बेहोशी नहीं टूट रही थी।

दुर्घटना में मौसेरे भाई की जा चुकी है जान : बता दें कि 24 अप्रैल को जगनारायण अपने मौसेरे भाई लखीराम यादव के साथ डुमरांव से शादी का बाजार कर वापस अपने गांव लौट रहा था कि नवाडेरा के पास तेज रफ्तार डम्पर से बचने के प्रयास में एक बोलेरो ने इनकी बाइक में धक्का मार दिया था। इस दुर्घटना में लखीराम की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि जगनारायण गंभीर रूप से जख्मी हो गया था।

एनएच 84 को जाम करते ग्रामीण।
एनएच 84 को जाम करते ग्रामीण।

अपादा प्रबंधन के तहत मिला चार लाख मुआवजा
ग्रामीणों द्वारा सड़क जाम किए जाने की जानकारी मिलते हैं तत्काल डुमरांव सीओ सुनील कुमार वर्मा और नया भोजपुर ओपी के प्रभारी राजीव रंजन राय सदल बल मौके पर पहुंचे और सड़क जाम कर रहे लोगों को समझा बुझा शांत कराया। सीओ ने मृतकों लखीराम और जगनारायण के परिजनों को 4-4 लाख रुपए का चेक दिया। जबकि पारिवारिक अनुदान का लाभ दिलाने का आश्वासन भी दिया गया। ग्रामीणों की मांग पर सीओ और नया भोजपुर ओपी के थानाध्यक्ष ने पीएनसी कंपनी पर कार्रवाई का आश्वासन भी दिया तब जाकर ग्रामीणों का आक्रोश शांत हुआ और ग्रामीणों ने सड़क जाम हटा शव का अंतिम संस्कार करवाया।

खबरें और भी हैं...