नहाने गई किशोरी की डूबने से मौत:एनएच जाम, मुआवजा मिलने के आश्वासन के बाद हटाया जाम; बेलाउर गांव की रहने वाली थी किशोरी

डुमरांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क जाम करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सड़क जाम करते ग्रामीण।

जिउतिया के दिन भैसहा नदी में स्नान के दौरान एक किशोरी गहरे पानी में डूब गई जिससे उसकी मौत हो गई। स्थानीय गोताखोरों ने आधा घंटा के प्रयास में शव को नदी से बाहर निकाला लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने किशोरी के शव के साथ भैसहा पुल के पास एनएच 84 को जाम कर दिया। ग्रामीण आपदा राहत के तहत चार लाख का मुआवजा पीड़ित परिवार को देने की मांग कर रहे थे।

घटना की सूचना मिलते ही औद्योगिक थाने की पुलिस मौके पर पहुंची तथा ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम हटवाया। तत्काल पीड़ित परिवार को पारिवारिक अनुदान के तहत बीस हजार रुपए का लाभ शुक्रवार को देने का आश्वासन पुलिस पदाधिकारियों ने दिया तथा कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपदा राहत की राशि भी देने का वादा किया।

इसके बाद ग्रामीणों ने जाम हटाया। इसके बाद पुलिस शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए बक्सर भेजी। जानकारी के अनुसार मृतका सुप्रिया कुमारी उम्र 10 वर्ष पिता मुनेन खरवार जिउतिया पर्व पर अपने मां के साथ नदी में नहाने आई थी। नहाने के दौरान ही उसका पैर फिसल गया तथा वह गहरे पानी में समा गई।

आस पास नहा रही महिलाएं कुछ समझती प्रथम मदद के लिए शुरू कर दी इसके पहले देर हो चुकी थी। हालाकि किशोरी के डूबने की खबर मिलते ही ग्रामीण गोताखोर आनन-फानन में नदी में छलांग लगा उसे बचाने का प्रयास किए।

खबरें और भी हैं...