पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:16 पंचायतों में आइओटी डिवाइस लगा कर नल जल योजना की हो रही है ऑनलाइन मॉनिटरिंग

डुमरांव6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय में शामिल नल का जल योजना की मॉनिटरिंग अब ऑनलाइन की जा रही है। इसको लेकर डुमरांव प्रखंड के सभी सोलह पंचायत के 238 वार्डों में आरंभ किए गए नल जल योजना को लेकर किए गए बोरिंग के समीप विभाग ने आइओटी डिवाइस (दी इंटरनेट ऑफ थिग्स) डिवाइस लगा दिया है। विभाग द्वारा डिवाइस लगाए जाने के लिए निविदा की प्रक्रिया किया गया था। जिसकी प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है। प्रखंड के 238 वार्डों में कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इस मशीन के माध्यम से प्रतिदिन हुए पानी सप्लाई की ऑनलाइन के माध्यम से जानकारी विभाग को मिल जाएगी।

हालांकि इसपर सरकार ने करोड़ों की राशि खर्च की है। वही इस मशीन से शत-प्रतिशत लोगो को समय से शुद्ध पेय जल मिल रहा है। वही जिस वार्ड में पानी समय से नही मिल रहा है तो इस डिवाइस के माध्यम से विभाग को पता चल जाए रहा है। संबंधित कनीय अभियंता जल्द ही संबंधित वार्ड में चयनित अनुरक्षक को पानी सप्लाई देने का निर्देश दे रहे है।

वही वार्डों में किए गए बोरिंग से पानी की सप्लाई हो रही है या नहीं, अगर हो रहा है तो कितनी पानी की खपत हो रही है। अगर पानी सप्लाई बंद है तो इसकी जानकारी भी विभाग को इस डिवाइस के माध्यम से आसानी से पता चल जाएगा। यह प्रक्रिया 13 पंचायतों में लगभग हो चुका है। विभाग के कर्मी द्वारा सभी नल जल के बोरबेल के पास आइओटी डिवाइस लगाया जा रहा है।

आइओटी डिवाइस के लिए हुई है अनुरक्षकों की तैनाती
सभी वार्डों में आइओटी डिवाइस लगाए गए है । जिला से आइओटी डिवाइस लगाने के लिए टेंडर किए गए है। वहीं, प्रखंड को अनुरक्षकों का चयन करने के निर्देश दिए गए हैं। बोरिंग के मोटर के संचालन का कार्य अनुरक्षकों के द्वारा ही करवाया जाएगा। यदि किसी खास व्यक्ति के घर में भी अगर पेयजल आपूर्ति बाधित है तो इसका समाधान भी अनुरक्षकों से ही कराया जाएगा। जानकारी के अनुसार डुमरांव प्रखंड के सभी सोलह पंचायत में 127 नल जल का कार्य कराया गया है। अब तक 127 अनुरक्षक का चयन कर लिया गया है। अधिकारी सूचना के अनुसार वार्ड के सचिव की अनुरक्षक होंगे।

खबरें और भी हैं...