लापरवाही:नकली खाद्य सामान की बिक्री पर नहीं लगा लगाम

डुमरांव6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड़ क्षेत्र में नकली सामान की बिक्री पर लगाम नहीं लग पाया है। बल्कि प्रशासनिक उदासीनता से लग्न के इस मौसम में नकली सामान के कारोबारियों की बल्ले-बल्ले है। जबकि उपभोक्ता ब्रांडेड कंपनियों की कीमत चुकाने के बाद भी नकली सामान लेने को मजबूर हो रहे है। बताया जाता है कि डुमरांव राजगोला का नकली सामान की बिक्री से पुराना नाता रहा है और यही से पूरे दियरांचल में के दुकानदारों को समानों कि सप्लाई की जाती है। कास्मेटिक सामान से लेकर खाद्य पदार्थों तथा नकली दवाओं की बिक्री का पर्दाफाश पिछले दिनों प्रशासनिक छापेमारी में हो चुका है। दो वर्ष पूर्व राजगोला में हुई छापेमारी में डाबर कंपनी का रैपर लगा नकली मधु, तेल के साथ ही कई ब्रांडेड कंपनियों के कास्मेटिक सामान की जब्ती की गई थी। उसके बाद प्रशासनिक सुस्ती से नकली सामान के विक्रेताओं के मनोबल बढ़े हुए है। जानकारों कि माने तो नकली सामान बड़े कारोबारियों ने सिमरी, चक्की प्रखंड के छोटे दुकानदारों को कम पूंजी में ज्यादा मुनाफा का लालच दे आसानी से ये अपने माल को खपाते है। उपभोक्ता रैंपर देख तथा दुकानदारों की बातों के झांसे में आकर आसानी से नकली सामान को ब्रांडेड कंपनियों के दाम पर खरीदते है। संबंधित विभाग के उदासीनता से इस पर लगाम नहीं लगाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...