पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डुमरांव:बढ़ते कोरोना प्रकोप को देख जीविका दीदियां युद्धस्तर पर बना रहीं मास्क

डुमरांव10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के खिलाफ हरस्‍तर पर जंग जारी है। डुमराव प्रखंड में जीविका दीदियों ने भी इसमें महत्‍वपूर्ण भूमिका निभानी शुरू कर दी है। यहां आधा दर्जन से अधिक समूह  की दर्जनों महिलाएं दिन-रात मास्क बनाने के काम में जुटी हैं। खास बात यह है कि इनके मास्क मानकों पर भी खरे हैं। अस्पतालों के चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी भी इनके बनाए मास्क पहन रहे हैं। मास्क के निर्माण पर डुमरांव प्रखंड  के सभी अधिकारि नजर रख रहे हैं। जिसमे कुछ एमबीबीएस डॉक्टर भी हैं। इस कारण वह बनाए जा रहे मास्‍क को निर्धार‍ित मापदंड पर कसने में उन्‍हें सहूलियत हो रही है।

संक्रमण से बचाने के लिए जताई मास्क बनाने की इच्छा 
कोरोना से बचाव के लिए मास्क की बढ़ती खपत को देखते हुए प्रखंड अलग अलग जगहों पर जीविका समूहों की महिलाओं ने पहले खुद पहल करते हुए उपायुक्‍त से मास्‍क बनाने की इच्‍छा जाह‍िर की थी। जिसके बाद  उपायुक्त मुख्यमंत्री व अधिकारी ने उनकी इस पहल की सराहना करते हुए उन्‍हें मास्‍क बनाने की जिम्मेवारी सौंपी। जिम्मेवारी मिलने के बाद दीदियों ने आगे बढ़ कर काम किया।

बता दें की  महिला ग्रुप के द्वारा अब तक हजार से अधिक मास्क बनाए जा चुके हैं। स्थिति यह है कि हर दिन उन्हें पंचायतो से  इतने ऑर्डर मिल रहे हैं कि वह आसानी से इस मांग को पूरा नही कर पा रहीं। जिले  से भी लगातार उन्हें मास्क बनाने के ऑर्डर प्राप्त हो रहे हैं, लेकिन वे शहर में बढ़ते डिमांड की वजह से जिले  का ऑर्डर नहीं ले पा रही हैं। 
धोकर दोबारा हो सकता है इस्तेमाल
महिला समूहों द्वारा तैयार मास्‍क को धोकर दोबारा भी उपयोग भी किया जा सकता है। कपड़े से निर्मित इस मास्क को बाजार में उपलब्ध कराने से पहले पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाता है। बताते हैं कि चिकित्सक जैसे मास्क आॅपरेशन थियेटर में इस्तेमाल करते हैं। वैसे ही मास्क जीविका  की दीदियां तैयार कर रही हैं। यह मास्क सिंगल लेयर से लेकर ट्रिपल लेयर तक का है। मास्क बनाने में कपड़े का इस्तेमाल हो रहा है। बता दे कि इसको लेकर  इन महिलाओं को मास्क बनाने का प्रशिक्षण भी दिया गया था ।  
इन सखी मंडलों की महिलाएं जुटी हैं काम में
मास्क निर्माण में प्रखंड की गुलाब जीविका समूह ,सरस्वती जीविका समूह , प्रतिज्ञा जीविका समूह ,बसवानी जीविका समूह  समेत अन्य महिला समूहों की दीदियों जुटी हैं। इसमें 200 से भी अधिक महिलाएं लगी हैं। मास्क के लिए कपड़ो का इंतजाम भी जिला प्रशासन के माध्यम से किया जा रहा है। 

संक्रमण से बचाएगा मास्क 
नप कार्यपालक और जीविका सिटी मिशन मैनेजर रशमी कुमारी ने बताया कि जीविका दीदियो के द्वारा बनाए गए मास्क कोरोना संक्रमण से बचाव में पूरी तरह कारगर हैं। निर्माण के दौरान मानकों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। मास्क तीन लेयर में बना है और पूरी तरह सैनिटाइज करने के बाद ही इसे उपलब्ध कराया जा रहा है।इन जीविकाओं को जिले  से भी मास्क बनाने के ऑर्डर मिल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें