निर्देश:डुमरांव वार्ड पार्षद के हस्ताक्षर की फोरेंसिक लैब में की जाएगी जांच

डुमरांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर परिषद डुमरांव के वार्ड 25 के पार्षद हरिशंकर तत्वा के द्वारा नगर परिषद के ईओ मनोज कुमार पर गम्भीर आरोप लगाया गया था। जिसमे वार्ड पार्षद का कहना है कि मेरे स्वयं के पैड पर लोक प्राधिकार सह कार्यपालक नगर परिषद डुमरांव द्वारा गलत तरीके से हस्ताक्षर कर मेरे द्वारा डाले गए परिवादी में प्रतिवेदन को जिला लोक शिकायत कार्यालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया है। जबकि मेरे द्वारा हस्ताक्षर तक नही किया गया था। उक्त बातों को लेकर वार्ड पार्षद ने इसकी शिकायत प्रमंडलीय आयुक्त के समक्ष किया था जिसके आलोक में आयुक्त द्वारा अपर समाहर्ता बक्सर प्रीतेश्वर प्रसाद को हस्ताक्षर मिलान के लिए डुमरांव भेजा गया था। मंगलवार को इनके द्वारा अंचल कार्यालय में करीब घंटाें हस्ताक्षर का मिलान करवाया गया। इस दौरान शिकायतकर्ता वार्ड पार्षद हरिशंकर तत्वा भी अधिकारियों के समक्ष मौजूद थे। वार्ड पार्षद ने एक पेज पर अपना हस्ताक्षर किया जिसे जांच के लिए फॉरेंसिक लैब में भेजा जाएगा। इस दौरान नगर परिषद डुमरांव के प्रधान सहायक दुर्गेश सिंह समुचित कागजातों के साथ मौजूद थे।इससे पूर्व एडीएम और एसडीएम द्वारा नगर परिषद में कथित रूप से नियम विरुद्ध भारी मात्रा में डस्टबिन और ट्रैक्टर की खरीद के अलावा नगरपालिका अधिनियम के विपरीत काम करने के आरोपों की जांच कर चुके हैं। नगर परिषद के पूर्व मुख्य पार्षद मोहन मिश्र का कहना है कि हाईकोर्ट में दायर विभिन्न मामलों के विरुद्ध प्रधान सचिव द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में जांच प्रक्रिया चल रही है।

खबरें और भी हैं...