शारदीय नवरात्र शुरू:मंदिरों व घर वेदमंत्रों से गूंजा, देवी मां के जयकारे में बजता रहा शंख व घंटी

डुमरांव18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गुरुवार को वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कलश स्थापना के साथ ही शारदीय नवरात्र की शुरूआत हुई। मंदिरों व घरों में श्रद्धालुओं द्वारा कलश स्थापित कर भक्ति के नौ दिनों में शक्ति के नौ रूपों के अराधना की शुरूआत मां शैल पुत्री के पूजन के साथ शुरू हो गया। नवरात्र को लेकर देवी भक्तों के बीच का उत्साह गजब का था। सुबह से ही देवी भक्त सारा काम काज छोड़ पूजा की तैयारी में लगे थे।

पूजा के सामानों को इकट्ठा करने के साथ ही गंगा स्नान की होड़ श्रद्धालु भक्तों में रही। शुभ मुहूर्त देख वैदिक मंत्रोच्चार से कलश स्थापित किया गया। कलश स्थापित होने के बाद भक्तों के करतल ध्वनि तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर बजने वाले भक्ति गीतों से इलाका भक्तिमय बना रहा। कलश स्थापित होते ही पूजा पंडालों तथा मूर्तियों को अंतिम रूप देने की कवायद भी तेज हो गई।

उधर नवरात्र को लेकर देवी मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ देखी गई। महिलाओं ने परंपरा के अनुरूप नौ दिनों के मां के पूजा व जलधारा शुरू किया। नगर पंचित काली आश्रम मंदिर में पौ फटने के साथ ही देवी भक्तों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। यही हाल स्टेशन स्थित दुर्गा मंदिर, राजगढ़ चौक पर काली मंदिर का था। मंदिरों में भी कलश स्थापना कर नौ दिनों का अनुष्ठान शुरू हो गया।

खबरें और भी हैं...